ऋषभ पंत ने कहा, मैं नहीं चाहता कि लोग मेरी तुलना धोनी से करें

नई दिल्‍ली। दिग्गज भारतीय विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के आखिरी दो मैचों में आराम दिया गया। उनके स्थान पर ऋषभ पंत को अंतिम 11 में शामिल किया गया। पंत के पास विश्व कप के लिए जगह बनाने का अच्छा मौका था लेकिन पंत न सिर्फ बल्लेबाजी से अच्छा प्रदर्शन कर पाए बल्कि विकेट के पीछे भी उनका खेल अच्छा नहीं रहा।
21 वर्षीय बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने दो पारियों में सिर्फ 52 रन बनाए। इसके बाद दोनों के बीच तुलना होने लगी।
समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में पंत ने कहा, ‘मैं तुलना के बारे में ज्यादा नहीं सोच रहा। एक खिलाड़ी के तौर पर मैं धोनी से सीखना चाहता हूं। वह महान खिलाड़ी हैं। मैं नहीं चाहता कि लोग मेरी तुलना करें पर मेरे चाहने से लोग रुकने वाले तो हैं नहीं। तो मैं उनके पास रहकर अपने खेल को सुधारने के लिए जरूरी सभी चीजें सीखना चाहता हूं।’
वनडे सीरीज में सफल होने के बावजूद पंत ने हौसला नहीं खोया है। उन्होंने कहा कि वह कप्तान विराट कोहली और उपकप्तान महेंद्र सिंह धोनी से काफी कुछ सीखने का प्रयास कर रहे हैं।
उन्होंने कहा, ‘मैंने कोहली और धोनी से अनुशासन, दबाव लेने का तरीका और अन्य लोगों की गलतियों से सीखकर अपने खेल को सुधराने जैसी चीजें सीख रहा हूं। सीखने के लिए काफी कुछ है और मैं लगातार इसके लिए प्रयास कर रहा हूं।’
ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज लेग स्पिनर शेन वॉर्न ने कहा कि वह वर्ल्ड कप जाने वाली भारतीय टीम में ऋषभ पंत को रखना चाहेंगे।
इंग्लैंड में टेस्ट सेंचुरी लगाने वाले पहले भारतीय विकेटकीपर ने कहा, ‘मैंने अभी वर्ल्ड कप के बारे में ज्यादा नहीं सोचा है चूंकि हम भारत में खेल रहे हैं और यहां की परिस्थितियां इंग्लैंड के मुकाबले काफी अलग होंगी। पिछले सप्ताह हमने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज खेली। अब आईपीएल शुरू होने वाला है। यानी हमने नियमित क्रिकेट खेल रहे हैं। जब मैं इंग्लैंड जाऊंगा, तभी इस बारे में बात करूंगा।’
इंडियन प्रीमियर लीग के 12वें एडिशन की शुरुआत 23 मार्च से हो रही है। पंत की टीम दिल्ली कैपिटल्स का पहला मुकाबला 24 मार्च को मुंबई इंडियंस से होगा।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »