रेवंत रेड्डी ने अपनी ही पार्टी के सांसद शशि थरूर को ‘गधा’ कहा, फिर माफी मांगी

कांग्रेस सांसद शशि थरूर को ‘गधा’ कहने के बाद उठे राजनीतिक तूफान के चलते तेलंगाना कांग्रेस प्रमुख ए रेवंत रेड्डी ने माफी मांग ली। उन्होंने अपनी टिप्पणी वापस ले ली। रेवंत, ऑस्कर फर्नांडीस के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए बेंगलुरु गए थे। उन्होंने शुरू में अपनी आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर कुछ भी कहने से इंकार कर दिया था। यहां तक कि तेलंगाना के आईटी और उद्योग मंत्री केटी रामा राव को ‘फर्जी खबर’ ट्वीट करने के लिए झूठा कहा था, लेकिन उनकी ऑडियो क्लिप वायरल हो गई, जिससे उन्हें माफी मांगने पर मजबूर होना पड़ा।
रेड्डी ने ट्वीट किया, ‘मैंने शशि थरूर जी से बातचीत करके यह बताया कि मैं अपनी टिप्पणी वापस लेता हूं और दोहराता हूं कि मैं अपने वरिष्ठ सहयोगी को सर्वोच्च सम्मान देता हूं।’ उन्होंने थरूर को उनके शब्दों से पहुंची किसी भी तरह की ठेस के लिए खेद व्यक्त किया।
शशि थरूर ने किया ट्वीट
बाद में ट्वीट का जवाब देते हुए तिरुवनंतपुरम से सांसद थरूर ने ट्विटर पर कहा, ‘मुझे रेवंत रेड्डी ने फोन कर, जो कहा गया था, उसके लिए माफी मांगी। मैं उनके खेद की अभिव्यक्ति को स्वीकार करता हूं और इस दुर्भाग्यपूर्ण प्रकरण को पीछे छोड़कर खुश हूं।’
रेड्डी ने यह भी लिखा, ‘और मुझे पता है कि तेलंगाना में अगली सरकार बनाने के लिए, कांग्रेस को जनता का समर्थन दिलाने के लिए वह उन्हें आकर जॉइन करेंगे।’
टिप्पणी को शशि थरूर ने मजाकिया लहजे में लिया
रेवंत ने टीआरएस सरकार की प्रशंसा करने पर शशि थरूर को निशाने पर लिया था। थरूर ने एक ट्वीट में रेवंत की टिप्पणी पर अपने ही अनोखे अंदाज में प्रतिक्रिया देते हुए इसे ‘अनुचित प्रतिक्रिया’ को ‘भाईचारे की भावना की अभिव्यक्ति’ कहा था।
रेवंत का ऑडियो हुआ वायरल
इधर रेवंत का वह ऑडियो वायरल हो गया जिसमें वह शशि थरूर को गधा कह रहे थे। केटीआर ने रेवंत की यह ऑडियो क्लिप पोस्ट की। उन्होंने लिखा, ‘आईटी स्थायी समिति के अध्यक्ष के रूप में, शशि थरूर ने हाल ही में राज्य सरकार के प्रयासों के लिए कुछ प्रशंसा की थी, संसद में उनके सहयोगी और पीसीसी ने उन्हें गधा कहा। ऐसा तब होता है जब आपके पास पार्टी का नेतृत्व करने वाला तीसरा दर्जे का अपराधी या ठग होता है।’
रेवंत रेड्डी पर भड़की कांग्रेस
थरूर ने स्पष्ट किया कि वह संसदीय पैनल की बैठक के लिए हैदराबाद में थे और उनकी टिप्पणियां आईटी क्षेत्र में सरकार के काम की सराहना करने तक ही सीमित थीं। कांग्रेस के सूत्रों ने कहा कि पार्टी आलाकमान ने थरूर जैसे वरिष्ठ सांसद पर रेवंत रेड्डी की आलोचना को गंभीरता से लिया है। रेवंत के खिलाफ उनकी ही पार्टी के लोग उनकी भाषा, लहज़े और तेवर को लेकर पहले से ही शिकायतें कर रहे हैं।
मनीष तिवारी बोले, रेवंत कर सकते थे बात
पार्टी सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने भी रेवंत की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया दी थी और ट्वीट किया था कि रेवंत इस तरह की टिप्पणी करने से पहले इस मुद्दे को स्पष्ट करने के लिए थरूर को बुला सकते थे।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *