Arnab Goswami 9 घंटे से थाने में, जबकि हमलावर आरोप‍ियों को म‍िली बेल

मुंबई। पालघर में साधुओं की लिंचिंग को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की चुप्‍पी के संदर्भ में उनके इटैल‍ियन नाम Antonia Maino से संबोध‍ित करने पर अर्नब गोस्‍वामी के खिलाफ दर्ज कराए गए केस संबंधी पूछताछ के लिए र‍िपब्ल‍िक टीवी के संपादक Arnab Goswami पिछले 9 घंटों से मुंबई के एनएम जोशी मार्ग पुलिस स्टेशन में हैं। पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। इस दौरान उनके वकील सुजॉय कांतावाला भी उनके साथ हैं, हालांक‍ि पुलिस स्टेशन जाने के दौरान Arnab Goswami विक्ट्री का साइन दिखाते हुए नजर आए। उधर अर्णब गोस्वामी पर हमले के दोनों आरोप‍ियों को मुंबई की भोइवाड़ा कोर्ट से जमानत पर र‍िहा कर द‍िया गया है।

गत 12 घंटे में मुंबई पुलिस ने भेजे दो नोटिस

इससे पहले रविवार को मुंबई पुलिस ने 12 घंटे में उन्हें पूछताछ के लिए दो नोटिस भेजे थे। पुलिस ने गोस्वामी को सीआरपीसी की धारा 41 के तहत सोनिया को Antonia Maino कह कर संबोध‍ित करने के बाद बयान देने वाले मामले की जांच में शामिल होने के लिए कहा। यह एफआईआर कांग्रेसी मंत्री नितिन राऊत ने दर्ज करवाई है। नागपुर में दर्ज इस एफआईआर को मुंबई में ट्रांसफर कर दिया गया है।

अर्णब गोस्वामी ने अपने खिलाफ पुलिस की कार्यवाही पर कहा है, ‘मुंबई पुलिस को मुझ पर हुए हमले की जांच में भी तेजी दिखानी चाहिए।’

पूछताछ में जाने से पहले अर्णब ने बयान जारी कर कहा है, ‘सोनिया पर बयान वाले केस में मुंबई पुलिस मुझसे पूछताछ करना चाहती है…ये कहते हुए मुझे उसने 12 घंटों में दो नोटिस भेजे हैं। कानून के तहत बाध्य नागरिक होने के नाते मैं जांच में सहयोग करूंगा। साथ ही अपील है कि पुलिस ऐसी ही तेजी मुझ पर और मेरी पत्नी पर हुए हमले (23 अप्रैल को) के केस में भी दिखाए।’

रिपब्लिक टीवी के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका
सोनिया गांधी पर कथित विवादित टिप्पणी के बाद अर्णब गोस्वामी की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही हैं। कांग्रेस नेताओं ने अब मुंबई हाईकोर्ट में रिपब्लिक टीवी के खिलाफ याचिका दायर की है, जिसमें कहा गया है कि रिपब्लिक टीवी को बंद करने का आदेश दिया जाए।

गिरफ्तारी पर तीन हफ्ते की रोक
अर्णब गोस्वामी को इस मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा तीन हफ्ते तक अग्रिम जमानत याचिका दायर करने का मोहलत दिया गया है। गोस्वामी ने लगातार एफआईआर दर्ज होने के बाद सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था, जिसके बाद कोर्ट ने उन्हें यह आंशिक राहत दी थी। साथ ही कोर्ट ने कहा था कि सभी एफआईआर को एक जगह किया जाए और वहीं से जांच की जानी चाहिए।

क्या है पूरा विवाद?
मुंबई के पालघर में दो साधुओं सहित तीन लोगों की हत्या के बाद अर्णब गोस्वामी ने अपने टीवी शो में 45 मिनट का एक डिबेट कराया। कांग्रेस नेताओं का आरोप है कि उसी डिबेट में अर्णब गोस्वामी ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को उनके इटैल‍ियन नाम से पुकारे जाने को लेकर कांग्रेस पार्टी ने कई राज्यों अर्णब गोस्वामी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराए।

– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *