बार-बार बीमार पड़ना है कमजोर इम्यूनिटी की निशानी

बार-बार बीमार पड़ना कमजोर इम्यूनिटी की निशानी है। इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए यूनानी चिकित्सा पद्धति में कई अच्छे उपाय बताए गए हैं। इन्हीं के बारे में बता रहे हैं सफदरजंग हॉस्पिटल में यूनानी मेडिकल सेंटर के इंचार्ज डॉ. सैयद अहमद खां
शरीर पर ध्यान देना जरूरी
इम्यून सिस्टम का कमजोर होना कोई बीमारी नहीं लेकिन यह शरीर को बीमार जरूर बना देता है। हमारे खानपान में लापरवाही के कारण शरीर में जरूरी तत्व कम होने लगते हैं और शरीर रोगों से लड़ने की क्षमता खो देता है। साथ ही, हमारा एनर्जी लेवल भी कम हो जाता है। ऐसे में खानपान पर ध्यान देकर शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाई जा सकती है।
सभी के लिए खास है खमीरा
यूनानी चिकित्सा में खमीरा का इस्तेमाल बहुत खास है। यह किसी भी दवा दुकान पर मिल जाएगा। मोतियों का खमीरा या खमीरा मरवारीद की थोड़ी-सी मात्रा रोजाना दूध के साथ लेने से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है।
दरअसल, खमीरे में एंटि-ऑक्सिडेंट और इम्यून सिस्टम को मजबूत करने वाले तत्व पाए जाते हैं। इसके नियमित सेवन से मौसमी या पुराना बुखार खत्म हो जाता है। खमीरा खाने से दिल भी मजबूत होता है।
ऐसे करें खमीरा का इस्तेमाल
1. जो शुगर के मरीज नहीं हैं: खमीरा का स्वाद मीठा होता है। इसे रोजाना सुबह खाली पेट खाना चाहिए और ऊपर में दूध पी लेना चाहिए। दूध की मात्रा 1 कप से एक गिलास (250ml) तक होनी चाहिए। दूध मीठा या फीका जैसा चाहें पी सकते हैं। 5 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए 2 ग्राम, 5-10 साल तक के बच्चों के लिए 3 ग्राम और 10 साल से ज्यादा की उम्र वालों के लिए 5 ग्राम खमीरा लेना काफी है।
2. जो शुगर के मरीज हैं: खमीरा मरवारीद की गोलियां भी बाजार में उपलब्ध हैं। शुगर के मरीजों को ये गोलियां खाने की सलाह दी जाती है। ये गोलियां भी दूध (1 कप से 1 गिलास यानी 250ml) के साथ ली जाती हैं। 10 साल से कम उम्र है तो एक गोली का चौथा हिस्सा लें और 10 साल से ज्यादा के हैं तो 1 गोली काफी है।
यों बढ़ेगी इम्यूनिटी
ड्राई फ्रूट्स का दम: ड्राई फ्रूट्स भी इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते हैं। यूनानी पद्धति में इन्हें खाने का तरीका कुछ अलग है। ड्राई फ्रूट्स में मौजूद फाइबर शरीर की पाचन क्रिया दुरुस्त करते हैं। इससे इम्यून सिस्टम मजबूत हो जाता है और शरीर को अतिरिक्त ऊर्जा मिलती है।
इतना लें ड्राई फ्रूट्स: बादाम 5-7 नग, काजू 3-5 नग, किशमिश 8-10 नग, पिस्ता 5 नग और अखरोट का आधा हिस्सा।
ऐसे करें इस्तेमाल: पहला तरीका- ऊपर बताए गए सारे ड्राई फ्रूट्स को 250ml दूध में मिला लें और मिक्सी में चला कर शेक बना लें। इसमें इच्छानुसार मीठा मिला लें। ब्रेकफास्ट में यह शेक पिएं।
दूसरा तरीका- सारे ड्राई फ्रूट्स को 100 ग्राम सूजी के हलवे में मिला लें। हलवे को दिन में कभी भी खा सकते हैं। ध्यान रहे, हलवा खाने के करीब 15 मिनट बाद तक कुछ और न खाएं।
अंकुरित अनाज हैं ‘जान’दार
अंकुरित अनाज खाने से भी शरीर की इम्यूनिटी बढ़ती है। अंकुरित अनाज में भरपूर मात्रा में विटामिन ई और फाइबर होते हैं, जो शरीर की पाचन क्रिया को मजबूत बनाते हैं। इसे खाने का भी अलग तरीका है। दरअसल, अंकुरित अनाज तीन दिन में खाने योग्य बनता है। इसे इस तरह से खाएं:
पहला दिन: शाम को 10 ग्राम गेहूं, 10 ग्राम चना और 10 ग्राम मूंग साफ पानी में धोकर पूरी रात पानी में भीगने दें।
दूसरा दिन: दूसरे दिन शाम को ये सभी अनाज निकाल लें और साफ सूती कपड़े में रखकर उसे टांग दें।
तीसरा दिन: सुबह सूती कपड़े में रखे अनाज को निकालें और साफ पानी से धो लें और खाएं। इनमें बारीक कटे टमाटर, हरी मिर्च, नीबू का रस, नमक और काली मिर्च का पाउडर स्वादानुसार मिला सकते हैं। अगर ये अंकुरित अनाज लंच के दौरान सलाद के रूप में खाते हैं तो ज्यादा फायदेमंद रहेगा।
फलों में छिपी है इम्यूनिटी
मौसमी फल खाने से भी इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। यूनानी चिकित्सा पद्धति के अनुसार मौसमी फल न केवल शरीर से टॉक्सिन को बाहर निकालते हैं बल्कि इनमें मौजूद विटामिन-सी शरीर के इम्यून सिस्टम को भी मजबूत करता है।
ऐसे करें फलों का इस्तेमाल: फल लंच या डिनर से करीब आधा घंटा या 1 घंटा पहले खाएं। रात को खाना खाने के बाद फल खाने से बचें क्योंकि इससे नजला, जुकाम, माइग्रेन, जॉइंट पेन आदि जैसी कई बीमारियां हो सकती हैं। अगर फ्रूट नहीं खाते हैं तो उनका शेक इस्तेमाल कर सकते हैं।
एनर्जी देगी खास चाय
जब सर्दी शुरू होती है या खत्म होने वाली होती है तो बदलते मौसम में यह खास चाय भरपूर एनर्जी देगी। एक व्यक्ति के लिए एक कप चाय पर्याप्त रहती है। इसे ऐसे तैयार करें:
सामग्री: 3 काली मिर्च, 5 तुलसी के पत्ते, 1 गिलोय का पत्ता, 2 लौंग, अंगूठे के नाखून जितना अदरक का टुकड़ा और एक कप पानी।
ऐसे बनाएं: पानी में सारी सामग्री को कूटकर डाल दें। इसे साधारण चाय की तरह पकाएं। जब उबाल आ जाए तो छानकर पी लें। स्वादनुसार चीनी भी डाल सकते हैं। ध्यान रहे, इसमें दूध न डालें।
कब पिएं: इस चाय को सुबह-शाम 1-1 कप पी सकते हैं। ज्यादा न पिएं।
क्या फायदा: गिलोय इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए जाना जाता है। इसकी अन्य चीजें भी इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ बदलते मौसम के बुरे असर से लड़ने में शरीर की मदद करती हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *