शिवसेना के ‘चप्पलबाज’ सांसद पर लगाया ट्रैवल बैन एयर इंडिया ने हटाया

Removed travel banned by Air India on Shivsena's 'Chappalbaj' MP
शिवसेना के ‘चप्पलबाज’ सांसद पर लगाया ट्रैवल बैन एयर इंडिया ने हटाया

नई दिल्ली। आखिरकार एयर इंडिया ने शिवसेना के ‘चप्पलबाज’ सांसद रविंद्र गायकवाड़ पर लगाए गए ट्रैवल बैन को हटा लिया है। गायकवाड़ ने गुरुवार को संसद में घटना को लेकर खेद व्यक्त किया था, साथ ही नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू को पत्र लिखकर भी खेद जताया था। इसके बाद नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने गायकवाड़ पर लगा बैन हटाने के लिए एयर इंडिया को पत्र लिखा। तब जाकर एयर इंडिया ने गायकवाड़ की हवाई यात्रा पर लगा प्रतिबंध हटाने का फैसला किया है। गुरुवार को शिवसेना ने भी इसे लेकर संसद में काफी हंगामा किया था और एयर इंडिया प्रबंधन को खुली धमकी दी थी।
बैन हटाए जाने के बारे में जानकारी देते हुए एयर इंडिया ने बताया है कि 6 अप्रैल को नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू को लिखे गए पत्र में गायकवाड़ ने घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए उस पर खेद व्यक्त किया है। उनके इस कदम के बाद उन पर लगा बैन हटाया जा रहा है। सूत्र बता रहे हैं कि एयर इंडिया के इस कदम के बाद बाकी एयरलाइंस भी उन पर लगाया गया बैन हटा सकती हैं।

#FLASH Air India lifts ban on Shiv Sena MP Ravindra Gaikwad pic.twitter.com/7V4nIjSUef
— ANI (@ANI_news) April 7, 2017
इसके पहले गायकवाड़ ने उस खबर को भी गलत बताया था जिसमें कहा जा रहा था कि एयरइंडिया ने उनके दो टिकट फिर कैंसल कर दिए हैं। एयर इंडिया के सूत्रों के हवाले से खबर आई थी कि 17 अप्रैल को दिल्ली से मुंबई और 24 अप्रैल को मुंबई से दिल्ली जाने के लिए गायकवाड़ द्वारा बुक कराए गए दो टिकट रद्द कर दिए गए हैं, लेकिन गायकवाड़ ने इसका खंडन किया है। उन्होंने कहा, ‘मैंने न तो 17 अप्रैल का टिकट बुक कराया और न ही 24 अप्रैल का क्योंकि संसद का सत्र 13 अप्रैल को ही अनिश्चितकाल के लिए खत्म हो रहा है।’
बता दें कि एयर इंडिया के कर्मचारी से बदसलूकी और उसकी चप्पल से पिटाई करने की वजह से सभी विमानन कंपनियों ने उन पर यात्रा प्रतिबंध लगा दिया था। शिवसेना ने गुरुवार को संसद में इसे लेकर काफी हंगामा किया। गायकवाड़ ने खुद पर लगे प्रतिबंधों को हटाए जाने की मांग करते हुए कहा कि पिछले 14 दिनों से उन पर लगे प्रतिबंध से वह अपने कर्तव्यों और जिम्मेदारियों का सही तरह से निर्वाह नहीं कर पा रहे हैं। गायकवाड़ को इस प्रतिबंध की वजह से सड़क मार्ग या फिर रेलमार्ग से यात्रा करनी पड़ रही थी।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *