रिलायंस इंडस्ट्रीज का ऐलान: देश को मिला अब तक का सबसे बड़ा विदेशी निवेश

मुंबई। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने देश को अब तक का सबसे बड़ा विदेशी निवेश मिलने का ऐलान किया है। अपनी 42वीं ऐनुअल जनरल मीटिंग(AGM) में रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कई घोषणा कीं, जिसमें कारोबार को लेकर सबसे बड़ी घोषणा सऊदी अरामको से मिलने वाले निवेश की है।
मुकेश अंबानी ने बताया कि सऊदी अरामको रिलायंस RIL के O2C (ऑयल टू केमिकल) बिजनस में 20 फीसदी स्टेक खरीदेगी, जिसकी एंटरप्राइज वैल्यू 75 अरब डॉलर है।
मुकेश अंबानी ने कहा कि यह देश के लिए भी अब तक का सबसे बड़ा विदेशी निवेश है। उन्होंने कहा कि भारतीय इकॉनमी में मंदी टेंपररी है क्योंकि आधार मजबूत है। आरआईएल और अरामको के बीच हुई इस डील के मुताबिक, रिलायंस के O2C बिजनस में सऊदी अरामको 20 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगी। ऑयल टू बिजनस डिविजन में रिफाइनिंग और पेट्रोकेमिकल्स बिजनस आते हैं। रिलायंस को इस कारोबार में वित्त वर्ष 2019 में 5.7 लाख करोड़ रुपये की आमदनी हुई।
इस डील के बाद अरामको लंबे समय तक कंपनी की जामनगर रिफाइनरी को रोजाना 5,00,000 बैरल क्रूड सप्लाई करेगी, जो दुनिया की सबसे बड़ी रिफाइनरी है। सऊदी अरामको सऊदी अरब की नेशनल पेट्रोलियम ऐंड गैस कंपनी है, जो आमदनी के लिहाज से दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है। मुनाफे के मामले में अरामको विश्व की सबसे बड़ी कंपनी है।
रिलायंस की जामन गर रिफाइनरी की क्षमता 1.4 मिलियन बैरल प्रति दिन की है, जिसे 2030 तक बढ़ाकर 2 मिलियन करने की योजना है। आरआईएल ने इस बारे में भारत सरकार से बात की है।
जून तिमाही में कंपनी को 6.8 पर्सेंट का शुद्ध मुनाफा हुआ। इस दौरान कंपनी का मुनाफा 10,104 करोड़ रुपये हो गया। पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही के दौरान कंपनी ने 9,459 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा दर्ज किया था।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *