समूचे उत्तर भारत में रेकॉर्डतोड़ ठंड, जनजीवन ठहरा

नई दिल्‍ली। उत्तर भारत में रेकॉर्डतोड़ ठंड ने जनजीवन को थाम दिया है। लद्दाख की द्रास घाटी से लेकर दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान समेत पूरा उत्तर भारत ही शीत लहर की चपेट में है। पारा यहां नए रेकॉर्ड बना रहा है। दुनिया के दूसरे सबसे सर्द रिहायशी इलाके द्रास में पारा -20 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
दिल्ली में शनिवार को यह -1.7 तक चला गया। राजस्थान के शेखावटी में न्यूनतम तापमान -4 डिग्री दर्ज किया गया है। दिसंबर से अब तक 8 कोल्ड डे और 7 सीवियर कोल्ड डे रेकॉर्ड हो चुके हैं।
मौसम विभाग के अनुसार कोल्ड डे तब होता है, जब अधिकतम तापमान सामान्य से कम से कम 4.5 डिग्री कम हो जाए। दूसरा सीवियर कोल्ड डे वह होता है। जब अधिकतम तापमान सामान्य से कम से कम 6.5 डिग्री सेल्सियस कम होता है।
लद्दाख का द्रास @ -20 डिग्री
केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के करगिल जिले के द्रास में तापमान -20 डिग्री तक पहुंच गया है। द्रास को दुनिया के दूसरे सबसे ठंडे रिहायशी इलाके में गिना जाता है। उच्च हिमालयी इलाकों में भारी बर्फबारी से तापमान में यह जबर्दस्त गिरावट आई है।
राजस्थान का शेखावटी@ -4 डिग्री
राजस्थान में भी ठंड रेकॉर्ड तोड़ रही है। शनिवार को शेखावटी में पारा लुढ़ककर -4 जबकि सीकर में -1 पर चला गया। जबर्दस्त शीत लहर के कारण शुक्रवार को भी पारे ने रेकॉर्ड तोड़ा था। जयपुर में पारा पांच साल बाद फिर 4 डिग्री तक गिर गया। जयपुर जिले के जोबनेर में -1 डिग्री दर्ज किया गया। फतेहपुर में तापमान शुक्रवार को -3, माउंट आबू में -1, चुरू में -.6 दर्ज किया गया। इन जिलों में सर्दी का आलम यह है कि सुबह छतों, खेतों और गाड़ियों में पाले की परत जमी दिखाई दे रही है।
दिल्ली का आया नगर@ 1.9 डिग्री
देश की राजधानी दिल्ली में शनिवार को मौसम की सबसे ज्यादा ठंड पड़ रही है। शनिवार सुबह को दिल्ली का औसत पारा 2.4 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया। लोधी रोड (1.7), आया नगर (1.9) में तापमान और कम था। शुक्रवार को दिल्ली में न्यूनतम तापमान 4.2 डिग्री रेकॉर्ड किया गया था। दिल्ली-एनसीआर के कई इलाके कोहरे की चपेट मे हैं।
उत्तर प्रदेश का मथुरा @2 डिग्री, 28 मौतें
सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में ठंड से 28 लोगों की जान जा चुकी है। प्रदेश के बुंदेलखंड इलाके में चार दिनों से लगातार शीतलहर चल रही है। पहाड़ों में लगातार हो रही बर्फबारी से यहां के लोगों का जीवन बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है। शुक्रवार को वेस्ट यूपी के बुलंदशहर, बागपत, बिजनौर, हापुड़ जिलों में तापमान 3 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया गया। वहीं मथुरा का तापमान 2 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया। सूबे में मथुरा सबसे ठंडा जिला रहा। राजधानी लखनऊ में शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 7.7 डिग्री सेल्सियस रहा। सीतापुर, अमेठी, आंबेडकर नगर, बहराइच, श्रावस्ती और बलरामपुर में न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
हिमाचल का किलोंग@ -11.5 डिग्री
उच्च हिमालयी इलाकों में जोरदार बर्फबारी से घाटियों और मैदानी इलाकों में पारा तेजी से गिरा है। उत्तराखंड के ऊपरी इलाकों में बर्फबारी रेकॉर्ड तोड़ रही है। केदरनाथ और बद्रीनाथ बर्फ से लकदक हैं। शनिवार को पिथौरागढ़ में तापमान .5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं हिमाचल प्रदेश के किलोंग में पारा गिरकर -11.5 पर आ गया।
मध्य प्रदेश का पंचमढ़ी @ 1.2 डिग्री
मध्य प्रदेश भी शीत लहर की चपेट में है। हिल स्टेशन पंचमढ़ी में तापमान 1.2 डिग्री तक पहुंच गया है।
हरियाणा के हिसार में पारा 0.2 डिग्री और बठिंडा में 2.3 डिग्री दर्ज किया गया है।
टूट रहे रेकॉर्ड
दिल्ली की ठंड सबसे लंबी शीतलहर के रेकॉर्ड को तोड़ चुकी है। इस बार लगातार 14 दिनों से शीतलहर जारी है। 1997 के दिसंबर महीने में लगातार 13 दिन की शीतलहर चली थी जबकि पूरे महीने में कुल 17 दिन शीतलहर का प्रकोप रहा था। 1901 से 2018 तक सिर्फ चार मौकों पर दिसंबर का अधिकतम औसत तापमान 20 डिग्री से नीचे गया है। इस साल यह 26 दिसंबर तक 19.85 डिग्री है जबकि 31 दिसंबर तक यह महज 19.15 डिग्री ही रह सकता है। शीत लहर का यह प्रकोप अभी 30 दिसंबर तक बना रहेगा।
यातायात प्रभावित
ठंड का असर यातायात पर भी पड़ रहा है। ट्रेन लेट हैं और फ्लाइट्स का रूट डायवर्ट किया गया। अब तक की जानकारी के मुताबिक दिल्ली एयरपोर्ट पर कम दृश्यता के कारण चार उड़ानों की दिशा बदली जा चुकी है। वहीं, देशभर में 194 ट्रेनें देरी से चल रही हैं जबकि 71 ट्रेनों के रूट डायवर्ट करने पड़े हैं। कोहरे की वजह से ही 11 ट्रेनों का समय बदला गया था।
सेहत पर असर
बढ़ती सर्दी बच्चों को भी रुलाने लगी है। यूपी के सरकारी अस्पतालों के आंकड़ों के मुताबिक, राजधानी लखनऊ में सर्दी की चपेट में आने से रोजाना 500 बच्चे अस्पताल पहुंच रहे हैं। यही नहीं, निमोनिया और कोल्ड डायरिया से जूझ रहे करीब 50 बच्चे रोज भर्ती भी किए जा रहे हैं। केजीएमयू में तो हालत यह है कि यहां एक बेड पर दो-दो बच्चों का इलाज चल रहा है।
अभी छुटकारा नहीं
भारतीय मौसम विभाग ने शुक्रवार को कहा कि पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तरी राजस्थान और उत्तर प्रदेश में अगले दो दिनों तक बहुत ज्यादा ठंड रहेगी। उसके दो दिनों बाद यानी 30 दिसंबर से कुछ इलाकों में ठंड घट सकती है। अगले तीन दिनों तक इन इलाकों में घना कोहरा रहने की भी संभावना है। मध्य प्रदेश, बिहार, झारखंड, सिक्किम और ओडिशा भी अगले दो दिनों तक घने कोहरे की चपेट में रह सकते हैं जबकि 30 दिसंबर के बाद अगले 4-5 दिनों तक उत्तर-पूर्वी भारत के कुछ क्षेत्रों में घना कोहरा छा सकता है।
मौसम विभाग के पूर्वानुमान में बताया गया है कि पूरे हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तरी राजस्थान, बिहार के साथ-साथ पंजाब, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, ओडिशा, प. बंगाल और सिक्किम के कुछ क्षेत्रों में अगले दो दिनों तक हाड़ कंपाने वाली ठंड रहेगी। वहीं, 31 दिसंबर से 1 जनवरी तक पूरे उत्तर पूर्वी और मध्य भारत में बारिश के साथ ओले गिरने की संभावना है। पूर्वी भारत में यह ठंड एक दिन और ज्यादा यानी 2 जनवरी तक रहने की संभावना है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *