ताजा ऑनलाइन सर्वे: 63 फीसद से अधिक लोगों को मोदी में विश्‍वास, 50 फीसद देखते हैं मोदी में बेहतर भविष्‍य

नई दिल्‍ली। अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दोबारा सरकार बनाने की राह आसान होती लग रही है। एक ताजा ऑनलाइन सर्वे में 63 फीसद से अधिक प्रतिभागियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में अपना पूरा विश्वास जताया जबकि पचास फीसद मतदाताओं का कहना है कि मोदी के लिए बतौर प्रधानमंत्री दूसरा कार्यकाल जनता के बेहतर भविष्य के लिए आवश्यक है।
नए पोर्टल ‘डेली हंट’ और डाटा एनालिटिक कंपनी नेलसन इंडिया के ताजा सर्वे में देश और विदेश के 54 लाख भारतीय प्रतिभागियों का ऑनलाइन सर्वे किया गया है। इस सर्वे में लोगों ने मोदी के प्रति वर्ष 2014 से अधिक का उत्साह दिखाया है। इसी साल मोदी पहली बार केंद्र की सत्ता में पूर्ण बहुमत से आए थे।
सर्वे के मुताबिक 63 प्रतिशत से अधिक प्रतिभागियों ने मोदी के प्रति वर्ष 2014 जैसा ही या उससे भी ज्यादा गहरा विश्वास व्यक्त किया है। सर्वे के मुताबिक इन प्रतिभागियों ने पिछले चार साल में मोदी के नेतृत्व की क्षमताओं पर पूर्ण संतोष व्यक्त किया है।
एमपी, राजस्थान व छत्तीसगढ़ में मोदी पर भरोसा कायम
ऑनलाइन सर्वे में 50 फीसद से अधिक लोगों ने यह भी माना है कि प्रधानमंत्री मोदी को एक और कार्यकाल मिलने से जनता का भविष्य संवर जाएगा। वहीं पांच राज्यों में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव के नतीजों पर सर्वे में दावा किया गया कि मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में लोगों का मोदी पर भरोसा कायम है।
मिजोरम के ट्रेंड का जिक्र किए बगैर सर्वे में बताया गया कि तेलंगाना अकेला राज्य है जहां सत्ता में बने रहने के चलन से बाहर हो रहा है। उल्लेखनीय है कि तेलंगाना में फिलहाल तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) की सरकार है।
केजरी को राहुल से बेहतर माना
इस सर्वे में दावा किया गया है कि साठ फीसद प्रतिभागियों ने मोदी पर विश्वास जताया है। उनका यह भरोसा देश में लंबे समय से फैली भ्रष्टाचार की जड़ों को काटने में पीएम मोदी ने अच्छा काम किया है। सर्वे के मुताबिक भरोसे और विश्वास की इस श्रेणी में जनता आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से बेहतर मानती है।
राष्ट्रीय संकट में मोदी बेहतरीन
62 फीसद से अधिक लोगों ने माना कि किसी राष्ट्रीय आपदा या संकट के समय नरेंद्र मोदी देश के लिए सबसे बेहतर नेता हैं। राष्ट्रीय संकट के समय में इसके बाद राहुल गांधी (17 फीसद), अरविंद केजरीवाल (आठ प्रतिशत), अखिलेश यादव (तीन प्रतिशत) और मायावती (दो प्रतिशत) मुफीद या विश्वसनीय हैं।
35 वर्ष से अधिक के लोगों को मोदी पर सर्वाधिक भरोसा
इस सर्वे को कराने वाले ‘डेली हंट’ और नेलसन इंडिया ने स्पष्ट किया है कि सर्वे राजनीति से प्रेरित नहीं है। यह देश की जनता की आवाज को दर्शाता है। नेलसन (दक्षिण एशिया) के प्रेसिडेंट प्रसून बसु ने कहा कि वैज्ञानिक तरीके से इस शोध को अंजाम दिया गया है। यह सर्वे डेलीहंट के प्लेटफार्म पर अंग्रेजी और हिंदी समेत दस भाषाओं में कराया गया है। इसके प्रतिभागियों में किसी अन्य समूह से अधिक 35 वर्ष से अधिक के आयु वर्ग के लोगों ने पीएम मोदी पर सबसे अधिक भरोसा जताया है।
कांग्रेस ने सर्वे को फर्जी ठहराया
हालांकि कांग्रेस पार्टी ने इस सर्वे को बकवास और फर्जी ठहराया है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा है कि मोदी सरकार ने जनता का विश्वास खो दिया है। आगामी पांच विधानसभा चुनावों में भाजपा को भारी नुकसान होने की उम्मीद है।
कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि भाजपा अब अपने वित्तीय संसाधनों का इस्तेमाल करके फर्जी सर्वे के जरिए अपनी विश्वसनीयता साबित करने की कोशिश कर रही है। ऐसे बकवास सर्वे से सरकार खुद को बुलंद नहीं कर पाएगी जबकि जनता ने उसे पहले ही ठुकरा दिया है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »