अनोखे फर्जीवाड़े के प्रति रिजर्व बैंक ने बैंकों को किया सावधान

मुंबई। भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंकों को यूपीआई के जरिये एक अनोखे फर्जीवाड़े के प्रति सावधान किया है। केंद्रीय बैंक ने तमाम कॉमर्शल बैंकों को अडवाइजरी भेजी है, क्योंकि इससे खुदरा ग्राहकों के खातों में जमा हजारों करोड़ रुपये की रकम को खतरा पैदा हो गया है।
भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बैंकों को एक नए तरह की बैंक धोखाधड़ी के बारे में चेतावनी दी है, जिसमें यूपीआई (UPI) के जरिये ग्राहकों के बैंक खातों से पैसे उड़ाए जा सकते हैं। जालसाज बेहद आसान तरीके फर्जीवाड़े को अंजाम दे सकते हैं।
इस तरीके में जालसाज पीड़ित को एक ऐप AnyDesk डाउनलोड करने के लिए भेजता है। इसके बाद हैकर्स पीड़ित के मोबाइल पर आए नौ डिजिट कोड के जरिये उसके फोन को रिमोट पर ले लेता है। आरबीआई ने अडवाइजरी में कहा, ‘जैसे ही जालसाज इस ऐप कोड को अपने मोबाइल फोन में डालता है, वह पीड़ित से कुछ परमिशन मांगता है, जैसा कि अन्य ऐप को डाउनलोड करने के बाद होता है।’
इससे जालसाज की पीड़ित के मोबाइल फोन तक पहुंच बन जाती है और वह गलत तरीके से ट्रांजैक्शंस को अंजाम देता है। आरबीआई के मुताबिक, फर्जीवाड़े के इस तरीके का इस्तेमाल यूपीआई या वॉलेट जैसे पेमेंट से संबंधित किसी भी मोबाइल बैंकिंग ऐप के जरिये ट्रांजैक्शंस के लिए किया जा सकता है।
मामले की जानकारी रखने वाले दो लोगों ने हमारे सहयोगी इकनॉमिक टाइम्स से कहा कि केंद्रीय बैंक ने तमाम कॉमर्शल बैंकों को अडवाइजरी भेजी है, क्योंकि इससे खुदरा ग्राहकों के खातों में जमा हजारों करोड़ रुपये की रकम को खतरा पैदा हो गया है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »