RBI ने HDFC Bank के नए क्रेडिट कार्ड जारी करने पर लगाई रोक

नई दिल्‍ली। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया RBI ने HDFC Bank को डिजिटल लॉन्च और नए क्रेडिट कार्ड जारी करने पर अस्थायी रूप से रोक लगाने के लिए कहा है। केंद्रीय बैंक ने एचडीएफसी के डेटा सेंटर (HDFC Data Centre) में पिछले महीने कामकाज प्रभावित होने के चलते यह आदेश दिया।
निजी क्षेत्र के एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) ने गुरुवार को कहा कि आरबीआई (RBI) ने उससे अपनी आगामी डिजिटल कारोबार गतिविधियों और नए क्रेडिट कार्ड जारी करने को अस्थायी रूप से रोकने के लिए कहा है। केंद्रीय बैंक ने एचडीएफसी के डेटा सेंटर में पिछले महीने कामकाज प्रभावित होने के चलते यह आदेश दिया। एचडीएफसी बैंक ने शेयर बाजार को यह जानकारी दी।
एचडीएफसी बैंक ने कहा, ‘आरबीआई ने एचडीएफसी बैंक लिमिटेड को 2 दिसंबर 2020 को एक आदेश जारी किया है, जो पिछले दो वर्षों में बैंक के इंटरनेट बैंकिंग/ मोबाइल बैंकिंग/ पेमेंट बैंकिंग में हुई परेशानियों के संबंध में है, जिसमें हाल में 21 नवंबर 2020 को प्राइमरी डेटा सेंटर में बिजली बंद हो जाने के चलते बैंक की इंटरनेट बैंकिंग और भुगतान प्रणाली का बंद होना शामिल हैं।’
कमियों की जांच करने का आदेश
बैंक ने कहा कि आरबीआई ने आदेश में बैंक को सलाह दी है कि वह अपने कार्यक्रम डिजिटल 2.0 और अन्य प्रस्तावित आईटी अनुप्रयोगों के तहत आगामी डिजिटल व्यापार विकास गतिविधियों और नए क्रेडिट कार्ड ग्राहकों की सोर्सिंग को रोक दे। एचडीएफसी बैंक ने कहा कि इसके साथ ही बैंक के निदेशक मंडल से कहा गया है कि वे कमियों की जांच करें और जवाबदेही तय करें। एचडीएफसी बैंक ने कहा कि पिछले दो वर्षों में उसने अपने आईटी सिस्टम को मजबूत करने के लिए कई उपाय किए हैं और शेष काम को तेजी से पूरा करेगा।
बैंक ने कहा है कि वह डिजिटल बैंकिंग चैनलों में हालिया परेशानियों को दूर करने के लिए ठोस कदम उठा रहा है और उम्मीद जताई की उसके मौजूदा क्रेडिट कार्ड, डिजिटल बैंकिंग चैनलों और मौजूदा परिचालन पर ताजा नियामकीय फैसले का कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। बैंक का मानना है कि इन उपायों से उसके समग्र व्यवसाय पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।
ग्राहकों पर होगा क्या असर
एचडीएफसी का कहना है कि इस सुपरवाइजरी एक्शन का बैंक के कामकाज पर कोई असर नहीं होगा। केंद्रीय बैंक के आदेश का बैंक के मौजूदा कामकाज प्रभावित नहीं होगा। इसमें मौजूदा क्रेडिट कार्ड और डिजिटल बैंकिंग शामिल है। बैंक के देशभर में 2848 शहरों और कस्बों में 15292 एटीएम हैं। बैंक ने अब तक 1.49 करोड़ क्रेडिट और 3.38 करोड़ डेबिट कार्ड इश्यू किए हैं।
बार-बार क्यों हो रही है समस्या
रिपोर्ट्स के मुताबिक प्राइमरी डेटा सेंटर में बिजली जाने से यह परेशानी हो रही है। जब पहले ऐसा हुआ था तो आरबीआई ने इसकी रिपोर्ट मांगी थी। इससे एटीएम ऑपरेशंस, कार्ड्स और यूपीआई ट्रांजैंक्शन जैसी बैंकिंग सेवाएं कुछ समय के लिए प्रभावित हुई थीं। अंतिम बार 21 नवंबर को बैंक का कामकाज प्रभावित हुआ था जिसके बारे में आरबीआई ने बैंक से स्पष्टीकरण मांगा था।
सोशल मीडिया में काफी हंगामा
उससे पहले पिछले साल दिसंबर में बैंक का कामकाज बुरी तरह प्रभावित हुआ था जिस पर सोशल मीडिया में काफी हंगामा हुआ था। तब बैंक के लाखों ग्राहक दो दिन से भी अधिक समय तक अपने मोबाइल बैंकिंग/नेट बैंकिंग अकांउट का यूज नहीं कर पाए थे। तब बैंक का कहना था कि ट्रांजैक्शनल एक्विटीज बढ़ने से समस्या पैदा हुई थी।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *