2021 तक के लिए रवि शास्त्री बने टीम इंडिया के मुख्य कोच

रवि शास्त्री (57) ही 2021 तक टीम इंडिया के मुख्य कोच रहेंगे। कपिल देव की अगुवाई वाली क्रिकेट एडवायजरी काउंसिल ने शुक्रवार शाम इसका ऐलान किया।
कपिल देव ने कहा कि हेड कोच का चयन कोचिंग स्किल्स, एक्सपीरियंस, नॉलेज और टीम के साथ कम्युनिकेशन के मानकों को ध्यान में रखते हुए किया गया।
शास्त्री 2014-2016 तक टीम के डायरेक्टर रहे। 2017 में उन्हें टीम का कोच बनाया गया। हालांकि वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों मिली हार के बाद उनके कोच पद पर बने रहने पर सवाल उठ रहे थे।
वेस्टइंडीज दौरे पर गए शास्त्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इंटरव्यू दिया
सीएसी में कपिल देव के अलावा टीम इंडिया के पूर्व ओपनर अंशुमान गायकवाड़ और महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान शांता रंगास्वामी शामिल हैं। सीएसी ने इंटरव्यू के लिए 6 उम्मीदवारों का नाम शॉर्ट लिस्ट किया था। इनमें शास्त्री के अलावा लाल चंद राजपूत, रॉबिन सिंह, न्यूजीलैंड के पूर्व कोच माइक हेसन और ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर टॉम मूडी शामिल थे। शास्त्री वेस्टइंडीज दौरे पर हैं, उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इंटरव्यू दिया। इसी तरह मूडी ने स्काइप पर इंटरव्यू दिया। लालचंद, रॉबिन और हेसन मुंबई में सीएसी के सामने पहुंचे। पूर्व वेस्टइंडियन ऑलराउंडर फिल सिमंस ने अपना नाम वापस ले लिया था।
कोच और कोचिंग स्टाफ के लिए 2000 लोगों ने आवेदन किए थे
शास्त्री और वर्तमान कोचिंग स्टाफ का कार्यकाल वर्ल्ड कप के बाद समाप्त हो गया था, लेकिन बोर्ड उनका अनुबंध 45 दिन के लिए बढ़ा दिया था। बोर्ड ने 30 जुलाई तक कोच और कोचिंग स्टाफ के लिए आवेदन मंगवाए थे। लगभग 2000 लोगों ने आवेदन दिया था। इनमें से 6 लोगों को शॉर्ट लिस्ट किया गया था।
शास्त्री की कोचिंग में टीम इंडिया वर्ल्ड कप के फाइनल में नहीं पहुंची थी
57 साल के शास्त्री को बतौर कोच खुद को साबित करने के लिए चार बड़े मौके मिले- दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज और फिर वर्ल्ड कप, लेकिन इन 4 में से 3 मिशन में वे फेल रहे। टीम दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज नहीं जीत सकी। पिछले दिनों खत्म हुए वर्ल्ड कप के फाइनल में भी टीम जगह नहीं बना सकी। उनकी एक बड़ी उपलब्धि ऑस्ट्रेलिया में टीम को पहली बार टेस्ट सीरीज में जीत दिलाना है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »