होली खेलने का निमंत्रण देने Barasana से नंदगांव पहुंची रंगीली सखी

बरसाना/मथुरा। Barasana के वृषभानु भवन से होली का न्योता लेकर राधारानी की सखियां गुरुवार को नंदगांव पहुंचीं, यहां इनका स्वागत सत्कार किया गया, इसके साथ ही नंदभवन में फाग आमंत्रण महोत्सव की धूम शुरू हो गई है।
वृंदावन की रंगीली सखी गुरुवार की सुबह होली का न्योता देने के लिए नंदगांव रवाना हुई थीं। यह सखी पांच वर्ष से न्योता देने जा रही है। उससे पहले उनकी गुरु श्यामादासी होली का न्योता देने के लिए जाया करती थीं।

रंगीली सखी अपने साथ एक हांडी में गुलाल, पान बीड़ा, खीरसा, इत्र, फुलेल आदि प्रसाद लेकर पहुंचीं। उन्होंने नंदभवन जाकर माखन चोर कन्हैया को राधा का न्योता दिया कि पूरे ग्वाल बाल मंडली संग बरसाने में होरी खेलने को बुलायौ है।

Barasana के वृषभानु भवन से होली का न्योता लेकर राधारानी की सखियां के प्रतिनिधि के रूप एक टोली गुरुवार को नंदगांव पहुंचीं। यहां इनका स्वागत सत्कार किया गया। नंदभवन में सखियों को नचाने के लिए स्टेज और मंदिर को दुल्हन की तरह सजाया गया। कृष्ण बलराम को आकर्षक पोषाक पहनाई गईं।

सुबह 11 बजे सखियों की टोली नंदगांव के नंदभवन में पहुंची। मंदिर में हल्ला मच गया कि बरसाना से न्योता आ गया है। सखियों ने निमंत्रण रूपी कमोरी, जिसमें गुलाल, बीड़ा, मठरी, इत्र आदि को सेवायत को सौंपा। सेवायत ने कमोरी को नंदबाबा और कन्हैंया के चरणों में रख दिया। इसके बाद पूरे नंदभवन में बरसाना से न्यौंता आने की बात बताई गई।

लठामार होली खेलने के निमंत्रण को सुनकर सखा उत्साहित हो उठे और सखियों को नृत्य के लिए मंच तक ले गए। नंदबाबा मंदिर के सेवायतों ने सखियों का चुनरी पहनाकर स्वागत किया। रसिया गायन और नृत्य का दौर चला और सखियों ने कृष्ण के सखाओं के साथ जमकर नृत्य किया।

फाग आमंत्रण महोत्सव के दौरान इंद्रदेव ने भी अपनी हाजिरी लगाई। देश-विदेश के तमाम श्रद्धालु फाग आमंत्रण महोत्सव को यादगार बनाने के उत्सुक दिखे। फाग धमारों की धुन पर श्रद्धालु थिरकते नजर आए।

फाग निमंत्रण उत्सव के दौरान होली रसियाओं का आयोजन किया गया। संगीताचार्य राधारमण गोस्वामी ने राग काफी में ठुमरी गाकर किया। दिनेश गोस्वामी, केदार गोस्वामी, मुकेश गोस्वामी, विक्रमवेद, ललित गोस्वामी ने श्रोताओं को झूमने पर मजबूर कर दिया।

बरसाना से लठामार होली का न्यौता मिलने के बाद हुरियारे भी अपनी तैयारियों जुट गए हैं। शुक्रवार को बरसाना प्रस्थान से पूर्व गोस्वामीजनों द्वारा चौपई निकाली जाएगी। नंदबाबा मंदिर से गोस्वामियों के पूर्वज बाबा आनंदघनजी की चौपाल तक चौपई ले जाएंगे। फिर यहां से होली गीत गाते हुए हुरियारे पुन: सिंहपौर पर पहुंचेंगे।

-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »