जीएल बजाज के रमाकांत बघेल को कम्प्यूटर साईंस में PhD

डा. एपीजे कलाॅम तकनीकी विश्वविद्यालय ने नेटवर्किंग राउटिंग की स्टाचस्टिक माॅडलिंग पर जमा शोध पत्र पर PhD की उपाधि से किया सम्मानित

मथुरा। जीएल बजाज की युवा फैकल्टी रमाकांत बघेल ने कम्प्यूटर र्साइंस एण्ड इंजीनियरिंग में शोध कार्य पूर्ण कर लिया है। इस पर डा. एपीजे कलाॅम तकनीकी विश्वविद्यालय, लखनऊ द्वारा PhD की उपाधि प्रदान की गई है। डा. रमाकांत द्वारा यह शोध कार्य ‘‘ स्टोकास्टिक माॅडलिंग डीआर पाई ओमेगा एंड डीआर पाई’’ विषय पर सम्पादित किया गया है। डा. रमाकांत ने यह शोध कार्य सेन्टर फाॅर एडवांस स्टडीज, ए.के.टी.यू. लखनऊ के निदेशक डा. मनीष गौड़ के मार्गदर्शन में पूरा किया है।

डा. रमाकांत बघेल ने बताया कि उनके किये गये शोध कार्य को सही तरीके अमल में लाया जाए तो विज्ञान के क्षेत्र में नित नए आने वाले मेडीकल, इलेक्ट्रोनिक, और फिजिक्स जैसे साइंस के बनने वाले उपकरणों को पूरी तरह से ठीक करने या पूर्ण रुप से सुधारने में सफलता हासिल होती है। उन्होंने बताया कि एटीएम जैसे उपकरणों के उपयोग के दौरान खराब होेने पर अभी तक इंजीनियर केवल एटीएम के साॅॅफ्टवेयर के खराब हुए पार्ट को ठीक कर काम चला लेते हैं। जोकि किसी उपभोक्ता के गलत इनपुट दिए जाने से खराब हो जाता है। जबकि इसे प्रोसेस एलजेब्रा (राउटिंग पाई कैलकुलस) के द्वारा ठीक करने पर हर प्रकार का गलत इनपुट उपभोक्ता द्वारा देने पर भी एटीएम के खराब होने के न्यूनतम चांसेज हैं। उन्होंने अपने शोध के माध्यम से सीटी स्कैन, एक्सरे मशीन आदि में त्रुटिहीन संचालन होने की बात दावे के साथ कही।

जीएल बजाज ग्रुप आफ इंस्टीटयुशंस के निदेशक डा. एलके त्यागी ने कहा कि डा. रमाकांत द्वारा सम्पादित यह शोध कार्य फार्मल मैथड के अन्र्तगत आने वाले विषय प्रोसेस एलजेब्रा (राउटिंग पाई कैलकुलस) पर आधारित है। यह शोध कार्य लार्ज डिस्ट्रीब्यूटेड सिस्टम के फार्मल वैरिफिकेशन के लिए उपयोगी है। इससे हम इन सिस्टम की करेक्टनेस प्रूफ कर सकते हैं।

डा. रमाकांत को पीएचडी की उपाधि से सम्मानित किये जाने पर संस्थान के चेयरमैन डा. राम किशोर अग्रवाल, वाइस चेयरमैन पंकज अग्रवाल व मैनेजिंग डायरेक्टर मनोज अग्रवाल ने बधाई देते हुए कहा कि संस्थान के विद्वत शिक्षकों की जमात में एक और पीएचडी की उपाधि एकेटीयू ने प्रदान की है। ये संस्थान के लिए भी गौरव की बात है। इससे शिक्षा के स्तर में भी बढोत्तरी होगी। छात्र-छात्राओं को ऐसे शिक्षकों के सानिध्य में रहकर शोध जैसे कार्याें की ओर लक्ष्य पाने को गंभीरता से बढना चाहिए।

पुलिस आरक्षी के पुत्र को मिली पीएचडी
जीएल बजाज ग्रुप आफ इंस्टीटयुशंस के शिक्षक डा. रमाकांत बघेल एक बहुत ही साधारण परिवार से आते हैं। उनके पिता राजवीर सिंह पुलिस विभाग में आरक्षी हैं, जबकि उनकी माता गृहणी। उनके एक छोटा भाई है। आगरा में डा. रमाकांत बघेल अपनी पत्नी श्रीमती शिमलेश के साथ रहकर जीएल बजाज प्रतिदिन आकर सेवा दे रहे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »