राम जन्मभूमि के पुजारी ने कहा, मंदिर निर्माण का वादा करें प्रियंका गांधी

अयोध्‍या। राम जन्मभूमि मंदिर के पुजारी सत्येंद्र दास ने कहा है कि प्रियंका गांधी का प्रस्‍तावित अयोध्‍या दौरा राजनीति से प्रेरित हैं। उन्हें राम मंदिर निर्माण का वादा करना चाहिए।
पूर्वी उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की प्रभारी बनने के बाद से प्रियंका गांधी लगातार सक्रिय हैं। पहले उन्होंने प्रयागराज से वाराणसी का दौरा किया और अब 27 मार्च को वह अयोध्या पहुंचेंगी। प्रियंका गांधी के इस दौरे को राजनीति से प्रेरित बताते हुए राम जन्मभूमि मंदिर के पुजारी सत्येंद्र दास ने कहा है कि यह सब सिर्फ राजनीति से प्रेरित है।
आपको बता दें कि इस दौरे पर प्रियंका गांधी हनुमान गढ़ी में दर्शन के साथ पूजा-अर्चना भी करेंगी। इसी पर सवाल उठाते हुए राम जन्मभूमि मंदिर के पुजारी सत्येंद्र दास ने कहा, ‘प्रियंका गांधी का हनुमान गढ़ी का दर्शन कार्यक्रम राजनीति से प्रेरित है। प्रियंका क्या विवादित स्थल पर विराजमान राम लला का दर्शन करने जाएंगी? मंदिर का विवाद कांग्रेस के कार्यकाल में बढ़ा है।’
सत्येंद्र दास ने यह भी कहा, ‘प्रियंका गांधी रामलला का दर्शन करें और बयान दें कि अगर कांग्रेस की सरकार बनी तो राम मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा।’ कांग्रेस के प्रदेश सचिव राजेंद्र प्रताप सिंह के मुताबिक प्रियंका गांधी का रोड शो अयोध्या से शुरू होकर फैजाबाद नगर के प्रमुख मार्गों से होकर जाएगा, जो नाका मुजफ्फरा से होकर मिल्कीपुर कुमारगंज की ओर प्रस्थान कर जाएगा। जहां से उसी दिन प्रियंका अयोध्या जिले की सीमा छोड़ कर अमेठी लोकसभा क्षेत्र में प्रवेश कर जाएंगी।
सॉफ्ट हिंदुत्व को आधार बना कर होगा रोडशो
कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि प्रियंका का अयोध्या रोडशो बीजेपी के गढ़ में उसी की काट के अजेंडे पर आधारित होगा। वह सॉफ्ट हिंदुत्व की ओर रूख करती हुई पहले सीधे अयोध्या जाएंगी, जहां मंदिर में दर्शन-पूजन के बाद संतों का आशीर्वाद भी प्राप्त करेंगी। उनसे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी विवादित ढांचा विध्वंस के 26 साल बाद सितंबर 2016 में अपनी अयोध्या यात्रा के दौरान पहली बार हनुमानगढ़ी में दर्शन के लिए पहुंचे थे। जहां उन्होंने संतों का आशीर्वाद भी हासिल किया था। उनके बाद अब उनकी बहन प्रियंका भी अयोध्या पहुंचकर हनुमानगढ़ी में माथा टेकेंगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »