रक्षाबंधन और चंद्रग्रहण कल एक साथ, इन चार राशियों को करेगा प्रभावित

नई दिल्ली। रक्षाबंधन के दिन यानी 7 अगस्त को चंद्रग्रहण पड़ रहा है। हिंदू धर्म में चंद्र ग्रहण को शुभ नहीं माना जाता है। कहा जाता है कि ग्रहण काल के दौरान भगवान की आराधना नहीं करनी चाहिए। वहीं इस दौरान कोई शुभ काम नहीं किया जाता। इसलिए इस दौरान राखी बांधने का समय भी बहुत कम है। रक्षाबंधन की रात 10 बजकर 52 मिनट पर खंडग्रास चंद्रग्रहण लग रहा है। जो मध्यरात्रि 12 बजकर 48 मिनट पर खत्म होगा। जबकि खंडग्रास चंद्रग्रहण का सूतक दोपहर 1 बजकर 52 मिनट से लग जाएगा। सुबह 11 बजे तक भद्रा होने से इससे पहले राखी नहीं पहनाई जा सकती। यानि बहनों के पास राखी पहनाने के लिए रक्षाबंधन के दिन सुबह 11 बजे से 1 बजकर 52 मिनट का ही समय है।

ज्योतिष के अनुसार मेष राशि वालों को चंद्र ग्रहण का सबसे अधिक नुकसान होगा। सबसे ज्यादा नुकसान इनको व्यापार में होने वाला है। इसीलिए इस समय आपको विशेष तौर पर सावधानी बरतनी होगी।

कन्या राशि वालों को अपनी सेहत को लेकर सावधानी बरतनी होगी। इस दौरान आप वाहन चलाने से बचें क्योंकि कोई हादसा होने की गुंजाइश है। अगर आपको ग्रहणकाल में निकलना पड़ रहा है तो काले कपड़े में नारियल बांधकर अपने सिर से पैर तक उतारे और इसके पानी में बहा दें।

मकर राशि वालों के लिए ये चंद्र ग्रहण पीड़ा देने वाला है। इस दौरान निवेश में नुकसान को योग बन रहे हैं। ग्रहणकाल के दौरान आपको यात्रा करने से भी बचना होगा।

मीन राशि वाले ग्रहण काल के दौरान कार्यस्‍थल पर कुछ अनचाहे बदलाव मेहसूस करेंगे जिससे आप परेशान हो सकते है। आपका किसी से विवाद भी हो सकता है। वहीं इस दौरान व्यापारियों को तगड़ा झटका लगने की संभावना भी है।

इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य व सटीक हैं तथा इन्हें अपनाने से अपेक्षित परिणाम मिलेगा। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।
-एजेंसी