राजनाथ सिंह ने कहा, राहुल गांधी के दिमाग पर तरस आता है

गुजरात में चुनाव प्रचार के लिए पहुंचे गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि मुझे कांग्रेस के राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी के दिमाग पर तरस आता है। राहुल कहते हैं कि विकास पागल हो गया है।
राजनाथ सिंह ने कहा कि विकास कभी धीमा हो सकता है, कभी तेज हो सकता है पर विकास पागल कभी हो सकता है? कोई यह कह दे कि विकास पागल है तो यह कहने वाले को क्या कहा जाए।’
राजनाथ ने रैली को संबोधित करते हुए पूछा, ‘क्या हम कह सकते हैं कि यह माइक पागल हो गया है या फिर यह बिजली का पोल पागल हो गया है?’
उल्‍लेखनीय है कि गुजरात में विधानसभा चुनाव को लेकर ‘विकास’ मुद्दा बना हुआ है।
कांग्रेस के सोशल मीडिया कैंपेन ‘विकास पागल हो गया है’ पर निशाना साधते हुए केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि आखिर विकास पागल कैसे हो सकता है। उन्होंने कहा कि ‘विकास’ बीजेपी के हिसाब से डिवेलपमेंट है, लेकिन कांग्रेस के हिसाब से ‘विकास’ व्यक्ति-विशेष। व्यक्ति-विशेष है, तभी कांग्रेस के मुताबिक ‘विकास’ पागल हो गया है। राजनाथ ने एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘क्या हम कह सकते हैं कि यह माइक पागल हो गया है या फिर यह बिजली का पोल पागल हो गया है?’
बता दें कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मिशन गुजरात के तहत अहमदाबाद के खेड़ा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए विकास का मुद्दा उछाला और लोगों से पूछा, ‘गुजरात में विकास को क्या हुआ? ये कैसे पागल हुआ?’ उन्होंने कहा कि गुजरात में झूठ सुन-सुनकर विकास पागल हो गया है। उन्होंने इस पर लोगों से भी हामी भराई।
‘आतंकी का कोई धर्म नहीं होता’
वहीं आतंकियों के मुद्दे पर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि आतंकवादी, आतंकवादी ही होता है। न वह हिंदू होता है और न ही मुसलमान होता है, न ईसाई। आतंकियों का कोई मजहब नहीं होता लेकिन सिर्फ वोट के चक्कर में मजहब, जाति के आधार पर बांटकर लोग सरकार बनाना चाहते हैं।
-एजेंसी