राजीव रंजन प्रसाद की A Man With Golden Seed किताब का लोकार्पण

नई दिल्ली। भारत के बदलते कृषि परिदृश्य और उसमें सम्मिलित होती प्रगतिशीलता पर आधारित यश पब्लिकेशंस द्वारा प्रकाशित और लेखक राजीव रंजन प्रसाद की पुस्तक ‘प्रगतिशील कृषि के स्वर्णाक्षर – डॉ. नारायण चावड़ा’ का अंग्रेजी अनुवाद A Man With Golden Seed का विश्व पुस्तक मेले के हैंगर लेक ओवर में लोकार्पण हुआ।

इस मौके पर होर्टीकल्चर सोसाइटी ऑफ़ इंडिया के प्रेसिडेंट डॉ. के.एल. चड्ढा, ह्यूमन राइट्स एक्टिविस्ट शबनम खान, यश पब्लिकेशंस के डायरेक्टर राहुल भारद्वाज, एग्रीकल्चर साइंस एंड फॉरेस्ट्री से डॉ. ब्रह्मा सिंह मौजूद थे।

वहीँ हॉल न. 12ए के लेखक मंच पर प्रगतिशील कृषि के स्वर्णाक्षर पुस्तिका पर चर्चा का भी आयोजन किया गया जिसमे वरिष्ट पत्रकार मुकेश भारद्वाज, टीवी पत्रकार सईद अंसारी, लेखक राजीव रंजन, अनुराग दीक्षित उपस्थित रहे।

राजीव रंजन प्रसाद ने A Man With Golden Seed लांच करने के अवसर पर अपने वक्तव्य में कहा कि फर्श से अर्श तक पहुँचे एक किसान डॉ. नारायण चावड़ा की जीवनी के माध्यम से उन्होंने उनके कृषि प्रयोगों को सामने लाने का कार्य किया है।