राजीव इंटरनेशनल बना Digital Learning में सर्वश्रेष्ठ विद्यालय

Digital Learning मैगज़ीन लखनऊ 2017 के सर्वेक्षण के आधार पर ’इलिट एजूकेशन काॅनक्लेव-2018’ कार्यक्रम में किया गया सम्मानित,

उत्तर प्रदेश शासन के सेक्रेटरी जनरल एडमिनिस्ट्रेशन डा. हरिओम द्वारा प्रधानाचार्य को किया सम्मानित

मथुरा। राजीव इंटरनेशनल स्कूल ने सफलता की एक और सीढी चढकर नया कीर्तिमान स्थापित किया है। राजीव इंटरनेशनल स्कूल को ’Digital Learning मैगज़ीन लखनऊ 2017’ के किए सर्वेक्षण द्वारा संपूर्ण भारत वर्ष में सर्वोच्च डिज़िटल लर्निंग शिक्षण पद्धति द्वारा शिक्षा देने वाले स्कूलों में शामिल किया गया है। स्कूल को लखनउ के होटल विदांता में ’इलिट एजूकेशन काॅनक्लेव-2018’ कार्यक्रम में सम्मानित किया है। इस कार्यक्रम की मुख्य अतिथि लखनउ महानगर की मेयर संयुक्ता भाटिया और हायर एजुकेशन के सेक्रेट्री रमेश मिश्रा द्वारा विभिन्न शहरों के चयनित विद्यालयों के प्रधानाचार्यों द्वारा डिजीटल लर्निंग शिक्षण पद्वति अपनाने पर भूरि-भूरि प्रशंसा की गई। प्रधानाचार्य शैलेन्द्र सिंह ग्रेवाल ने विद्यालय का प्रतिनिधित्व करते हुए सम्मान प्राप्त कर विद्यालय को गौरवान्वित किया।
स्कूल के प्रधानाचार्य शैलेन्द्र सिंह ग्रेवाल ने बताया कि कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश शासन के सेक्रेटरी जनरल एडमिस्ट्रिेशन डा. हरिओम, सीएमएस लखनउ के संस्थापक और मैनेजर डा. जगदीश गांधी और एलेट टेक्नोमीडिया प्रा. लिमिटेड के संस्थापक और सीईओ डा. रवि गुप्ता ने उनको प्रमाण पत्र के रुप में पुरस्कार दिया। ’डिज़िटल लर्निंग मैगज़ीन लखनऊ 2017’ के किए सर्वेक्षण कराया। इसमें राजीव इंटरनेशनल स्कूल को टाॅप स्कूल्स आॅफ इंडिया सर्टीफिकेट आफ रिकग्नीशन टू राजीव इंटरनेशनल स्कूल मथुरा का प्रमाण पत्र रवि गुप्त की ओर से दिया गया। ’इलिट एजूकेशन काॅनक्लेव-2018’ कार्यक्रम का आयोजन लखनऊ स्थित होटल विदांता ताज गोमती नगर में हुआ। इसमें मथुरा शहर में राजीव इंटरनेशनल स्कूल को सर्वश्रेष्ठ विद्यालय घोषित किया गया।
प्रधानाचार्य ने कहा कि हम Digital Learning जैसी आधुनिक शिक्षण पद्धति को और अधिक प्रभावशाली बनाएं। साथ ही संकल्प लें कि इस सम्मान को बरकरार रखने में सक्षम हों। देश के लिए होनहार एवं कुशल छात्रों को तैयार कर उन्हें अपने देश को और आगे ले जाने में सक्षम बनाएं।
आरके एजूकेशन हब के अध्यक्ष डाॅ. रामकिशोर अग्रवाल और वाइस चैयरमेन पंकज अग्रवाल ने विद्यालय के प्रधानाचार्य एवं समस्त शिक्षकगणों को बधाई देते हुए कहा कि हमारा मुख्य उद्देश्य आज के परिवेश के अनुसार छात्रों को शिक्षित कर उनके भविष्य को उज्ज्वल बनाना है। जिस उद्देश्य में हम पूरी तरह सफल हुए हैं।
स्कूल के मैनेंजिंग डायरेक्टर मनोज अग्रवाल ने सभी को शुभकामनाएंं देते हुए कहा कि हम Digital Learning शिक्षण पद्धति द्वारा छात्रों को शिक्षित कर उन्हें इक्कीसवीं सदी के बेहतरीन व होनहार नवयुवक बना रहे हैं ताकि हम सभी देश के भविष्य को उज्ज्वल एवं प्रगतिशील बनाने में सफल हो सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »