राजीव गांधी मुद्दा: अहमद पटेल के आरोपों का जवाब देने में देर नहीं लगाई भाजपा ने

नई दिल्‍ली। बीजेपी नेता और वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कांग्रेसी नेता अहमद पटेल के आरोपों का जवाब देने में कतई देर नहीं लगाई और ट्वीट कर बताया कि ‘दिसंबर 1990 से मई 1991 तक जिस दौरान राजीव गांधी की हत्या की गई उस दौरान कांग्रेस केंद्र में चंद्रशेखर सरकार का समर्थन कर रही थी।’
पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा पूर्व पीएम राजीव गांधी को भ्रष्टाचारी नंबर वन वाले कहे जाने पर अब चौतरफा बयानों की आंधी शुरू हो गई है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी बहन प्रियंका गांधी के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने इस पर पीएम मोदी को घेरने की कोशिश की।
उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी ने 1989 में उस विश्वनाथ प्रताप सिंह सरकार को समर्थन दिया था, जिसने राजीव को अतिरिक्त सुरक्षा देने से इंकार कर दिया था। पटेल ने पीएम मोदी के बयान को कायरता की निशानी बताई।
उधर, बीजेपी ने कांग्रेस के आरोप का जवाब में देने में देरी नहीं लगाई और उसकी मंशा पर ही सवाल उठा दिए।
बीजेपी नेता और वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पटेल के आरोपों पर ट्वीट कर कहा, ‘दिसंबर 1990 से मई 1991 तक, जिस दौरान राजीव गांधी की हत्या की गई उस दौरान कांग्रेस केंद्र में चंद्रशेखर सरकार का समर्थन कर रही थी।’
जेटली ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘मई 1991 से 2004 तक कांग्रेस राजीव गांधी की हत्या के लिए अपनी मौजूदा सहयोगी डीएमके को जिम्मेदार ठहराती थी। यहां तक कि इसने संयुक्त मोर्चा सरकार से इसी आधार पर समर्थन भी वापस लिया था। 28 साल बाद आज कांग्रेस को इसमें बीजेपी की भूमिका नजर आ रही है।’
पीएम मोदी ने क्या कहा था
कांग्रेस और उसके अध्यक्ष राहुल गांधी ‘चौकीदार चोर है’ के नारे से मोदी को लगातार घेर रहे हैं। मोदी ने इसके जवाब में राजीव गांधी पर तंज कसते हुए उन पर ‘भ्रष्टाचारी नंबर वन’ कहकर हमला बोला था। झारखंड रैली में मोदी ने कहा था, ‘आपके (राहुल गांधी) पिताजी (राजीव गांधी) को आपके राजदरबारियों ने मिस्टर क्लीन बना दिया था लेकिन देखते ही देखते भ्रष्टाचारी नंबर वन के रूप में उनका जीवनकाल समाप्त हो गया।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »