राजीव एकेडमी के छात्र-छात्राओं ने किया गिन्नी फिलामेंट का औद्योगिक भम्रण

Rajiv-Academy's-Students-Gi
राजीव एकेडमी के छात्र-छात्राओं ने किया गिन्नी फिलामेंट का औद्योगिक भम्रण

सूती धागा निर्माण की तकनीक से हुए रू-ब-रू

मथुरा। राजीव एकेडमी फार टेक्नोलाजी एण्ड मैनेजमेंट के छात्र-छात्राओं ने छाता तहसील क्षेत्र में संचालित गिन्नी फिलामेंट कम्पनी का औद्योगिक भ्रमण किया। इस भ्रमण के दौरान छात्र-छात्राओं ने एच.आर. विभाग, प्रोडक्शन यूनिट एवं डिस्पैच और कच्चे माल के बारे में जानकारी हासिल की।

बीसीए (प्रथम वर्ष) की छात्रा खुशबू राजपूत ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए गिन्नी फिलामेंट में भ्रमण को सफल बताते हुए कहा कि अधिकांशतः हम बाहर की कम्पनियों में ही भ्रमण पर गए हैं, इस बार हमने अपने गृह जपनद की एक श्रेष्ठ कम्पनी में भ्रमण कर काफी ज्ञान अर्जित किया। बी.काम ई-काम (प्रथम वर्ष) के छात्र केशव गौड़ का कहना है कि गिन्नी फिलामेंट में धागा निर्माण तकनीक से काफी कुछ सीखने को मिला है। मार्केट में सूती धागे के कच्चे माल के विपणन, उसकी कीमत व उससे तैयार माल के विपणन के संदर्भ में ई-कामर्स के विद्यार्थियों के लिए रोजगार की काफी सम्भावनाएं हैं। व्यावसायिक अध्ययन की दृष्टि से भी यह भ्रमण सफल रहा है। बीएससी (प्रथम वर्ष) की छात्रा पूजा रजक का मानना है कि पहली बार सूती धागा निर्माण की तकनीक से हम सभी परिचित हुए। हमने कम्पनी के अधिकारियों से काफी ज्ञान अर्जित किया जिससे हमें काफी प्रोत्साहन मिला है। हम जिस उद्देश्य से गिन्नी फिलामेंट में गए वह पूरा हुआ।

गिन्नी फिलामेंट के एजीएम एस.के. तिवारी और वाइस प्रेसीडेंट एस.एन. शर्मा ने छात्र-छात्राओं को कई प्रकार की जानकारी उपलब्ध कराई। छात्रों ने दोनों अधिकारियों के साथ विचारों का आदान-प्रदान किया और सूती धागा बनाने की उन्नत तकनीक तथा प्रोडक्शन यूनिट के टेक्निकल बिन्दुओं के बारे में विस्तार से जानकारी हासिल की।

आर.के. एजूकेशन हब के चेयरमैन डा. रामकिशोर अग्रवाल ने कहा कि व्यावसायिक कोर्सों के छात्र-छात्राओं के लिए इण्डस्ट्रियल विजिट का बहुत महत्व है। इसका उनके अध्ययन से गहरा सम्बन्ध है। इण्डस्ट्रियल विजिट से उन्हें व्यावसायिक और व्यावहारिक ज्ञान प्राप्त होता है। अतः इण्डस्ट्रियल विजिट भविष्य में रोजगार पाने की दृष्टि से भी बहुत महत्वपूर्ण है। इण्डस्ट्रियल विजिट में प्राप्त जानकारी से जाब प्लेसमेंट के साक्षात्कार में बहुत लाभ होता है। प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल ने इण्डस्ट्रियल विजिट को जरूरी बताते हुए कहा कि इण्डस्ट्रियल विजिट से छात्र-छात्राओं को व्यावहारिक ज्ञान प्राप्त होता है, जो व्यावसायिक कोर्स के लिए आवश्यक होता है। निदेशक डा. अमर कुमार सक्सेना ने कहा कि गिन्नी फिलामेंट जैपुरिया ग्रुप की बड़ी कम्पनी है जो धागा टेक्नोलाजी के अग्रिम पंक्ति का संस्थान है। शिक्षा के अलावा अन्य क्षेत्रों में भी यह ग्रुप अग्रणी है। यह धागा एक्सपोर्ट करने वाली प्रसिद्ध कम्पनी है। छात्र-छात्राओं को इस विजिट से जो व्यावसायिक ज्ञान मिला है, उसका उन्हें अवश्य लाभ मिलेगा। छात्र-छात्राओं का यह दल गौरव सिंह और गीता चौधरी के निर्देशन में गिन्नी फिलामेंट गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *