ट्विंकल क्रियेशन्स में राजीव एकेडमी के सोलह छात्र-छात्राओं को मिली नौकरी

Rajiv Academy's sixteen students get jobs in twinkle creations rajiv-academy-studentमथुरा। राजीव एकेडमी फार टेक्नोलाजी एण्ड मैनेजमेंट के 16 छात्र-छात्राओं ने अपनी कुशाग्रबुद्धि का परिचय देते हुए ई-कामर्स की प्रसिद्ध कम्पनी ट्विंकल क्रियेशन्स में उच्च पैकेज पर जाब हासिल करने में सफलता हासिल की है। शिक्षा पूर्ण करने से पहले ही उच्च पैकेज पर मिली नौकरी से सिर्फ छात्र ही नहीं उनके अभिभावक भी बेहद खुश हैं।

गौरतलब है कि ट्विंकल क्रियेशन्स के जोनल मैनेजर सौरभ चतुर्वेदी, ब्रांच मैनेजर राहुल अग्रवाल तथा मनीषा सिंह ने सभी छात्र-छात्राओं का आईक्यू व जनरल टेस्ट लिया तत्पश्चात सभी को चयन की सूचना देते हुए कम्पनी के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

ट्विंकल क्रियेशन्स में उच्च पैकेज पर जाब हासिल करने वालों में एमबीए के मनीष रावत, कुलदीप कोमल, अरुन कुमार, दीपांशी शर्मा, वीना गोस्वामी, राजकुमार गोस्वामी तथा बीबीए की अबिता चौधरी, अक्षिता शर्मा, गौरव सिंह, सागर वर्मा, आस्था शर्मा, अंजलि शर्मा एवं बी.काम-ई-काम के स्वतंत्र अग्रवाल, अनामिका गौर, दिव्या गुप्ता, धरनीधर पाण्डे शामिल हैं।

आर.के. एजूकेशन हब के चेयरमैन डा. रामकिशोर अग्रवाल ने सभी चयनित छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुए कहा कि छात्र-छात्राएं कभी भी अपने अध्ययन में रुकावट न आने दें क्योंकि ज्ञान प्राप्ति के मार्ग में कई प्रकार की बाधाएं अध्येता के साहस और सहनशीलता की परीक्षा लेती हैं। अतः जो लोग ऐसी बाधाओं को पार कर लेते हैं उन्हें स्वर्णिम भविष्य की प्राप्ति अवश्य होती है। जिन छात्रों को सफलता नहीं मिली है उन्हें निराश होने की बजाय सफलता के लिए पुनः प्रयास करने चाहिए।

संस्थान के प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल ने कहा कि कक्षाओं में पढ़ते समय और घर पर स्वतंत्र तैयारी के वक्त प्रत्येक छात्र-छात्रा को अपने उद्देश्य को भूलना नहीं चाहिए। हर समय अपने उद्देश्य की स्मृति हमें आगे बढ़ने को प्रेरित करती है। राजीव एकेडमी के अध्येता छात्र-छात्राएं हमेशा अपने जीवन के लक्ष्य को इसी प्रकार से याद रखकर अध्ययन करते रहें ताकि उनका भविष्य उज्ज्वल बने और उन्हें मन-माफिक जाब मिलता रहे।

निदेशक डा. अमर कुमार सक्सेना ने कहा कि निरन्तर चलते रहना, परिश्रम करते रहना ही विद्यार्थी की सफलता होती है। ‘‘चरैवेति-चरैवेति‘‘ के वैदिक सिद्धान्त का पालन करते रहने से ही विद्यार्थी जीवन खरा सोना बनता है। ऐसे विद्यार्थी परिवार, समाज राष्ट्र के गौरव बनते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *