राजीव एकेडमी के विद्यार्थी घर बैठे उठा रहे समर इंटर्नशिप का लाभ

मथुरा। कोरोना संक्रमण के चलते हर तरह की गतिविधियां प्रभावित हुई हैं, इससे शिक्षा पर भी व्यापक असर पड़ा है। शैक्षिक संस्थान बंद होने के बावजूद राजीव एकेडमी फॉर टेक्नोलॉजी एण्ड मैनेजमेंट ने प्रशासन के हर दिशा-निर्देश का पालन करते हुए ऐसी सुदृढ़ व्यवस्थाएं की हैं जिनके चलते यहां के छात्र-छात्राएं पढ़ाई के साथ ही नामचीन कम्पनियों में समर इण्टर्नशिप करते हुए न्यूनतम 10 हजार रुपये प्रतिमाह का स्टाइफंड लाभ भी उठा रहे हैं।

राजीव एकेडमी फॉर टेक्नोलॉजी एण्ड मैनेजमेंट के एम.बी.ए. के छात्र-छात्राएं कोविड-19 में 75 दिन के लाकडाउन के बाद अब अनलाक के समय में घर बैठे देश की नामी कम्पनियों में समर इंटर्नशिप का लाभ ले रहे हैं। राजीव एकेडमी के विद्यार्थी घर पर रहकर ही न केवल जानी-मानी कम्पनियों से आनलाइन प्रशिक्षण ले रहे हैं बल्कि यह कम्पनियां छात्र-छात्राओं को दस हजार रुपये प्रतिमाह तक का स्टाइफंड भी प्रदान कर रही हैं।

कोरोना संक्रमण के इस दौर में जहां लोगों को रोजगार के लाले पड़े हैं वहीं राजीव एकेडमी के विद्यार्थी अपनी कुशलता के बल पर मार्केटिंग, फाइनेंस, एचआर, सप्लाई चेन एवं इंश्योरेंस आदि क्षेत्रों में समर इण्टर्नशिप कर अपनी आर्थिक स्थिति को भी मजबूत कर रहे हैं। एम.बी.ए. के लगभग सभी छात्र-छात्राओं को जहां स्टाइफंड का लाभ मिल रहा है वहीं वैशाली सिंह का चयन मैडीपैक इनोवेशन, शिवानी वर्मा और प्राची भार्गव का कोकाकोला कम्पनी, सानू चौधरी का औथब्रिज रिसर्च सर्विस, भूमिका अग्रवाल का माई कैप्टेन, 16 छात्र-छात्राओं को आउटलुक तथा 20 को एच.डी.एफ.सी. में सेवा का अवसर मिल चुका है। हर्ष एवं अनुश्रुति को पेप्सी तथा विपिन कुमार का स्विगी में चयन हुआ है।

आर.के. एज्यूकेशन हब के अध्यक्ष डा. रामकिशोर अग्रवाल, उपाध्यक्ष पंकज अग्रवाल, चेयरमैन मनोज अग्रवाल तथा संस्थान के निदेशक डा. अमर कुमार सक्सेना ने छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की है। निदेशक डा. अमर कुमार सक्सेना का कहना है कि राजीव एकेडमी द्वारा विद्यार्थियों को अध्ययन में आवश्यक संसाधन और नवीनतम अपडेट्स उपलब्ध कराने का लगातार प्रयास किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *