Rajiv Academy का बीबीए कोर्स दे रहा उज्ज्वल भविष्य

मथुरा। पिछले दो दशकों से Rajiv Academy फार टैक्नोलाजी एण्ड मैनेजमेंट लगातार युवा जगत में उच्च व्यावसायिक शिक्षा के लिए जाना जा रहा है। यहां प्रवेश के लिए आने वाले छात्र-छात्राओं/युवक युवतियों की जिज्ञासा रहती है क्योंकि यहां व्यावसायिक शिक्षण की उन्नत तकनीक अपनायी जाती है, जो कि अन्यत्र नहीं है। लगातार नवीन तकनीकों के अपडेशन, उन्नत और उच्च गुणवत्तायुक्त शिक्षण से सभी छात्र-छात्राओं में राजीव एकेडमी आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है।

राजीव एकेडमी फोर टैक्नोलाॅजी एंड मैनेजमेंट के बीबीए कोर्स की अपनी विशेषता है। इस बात का पता इस तथ्य से चलता है कि बीबीए के इस संस्थान से पासआउट अब तक लगभग कई सैकड़ों छात्र-छात्राएं विदेशों में ख्याति प्राप्त कम्पनियों में उच्च पैकेज पर नौकरी कर रहे हैं। बीबीए पास आउट सैकड़ों ऐसे छात्र-छात्राएं भी हैं, जो स्वयं का अपना व्यावसायिक संस्थान स्थापित करके अनेकों पढ़े-लिखे बेरोजगारों को नौकरी दे रहे हैं। यहां के बीबीए कोर्स की विशेषता यह भी है कि फायनल ईयर में पहंुचते ही छात्र-छात्राओं को बड़ी कम्पनियों में जाॅब प्लेसमेंट मिल जाता है। यही कारण है कि 12वीं क्लास से आगे उच्च शिक्षा के लिए छात्र-छात्राएं राजीव एकेडमी को ही वरीयता दे रहे हैं।

छात्र-छात्राओं का मानना है कि राजीव एकेडमी में बीबीए में प्रवेश लेने के बाद उन्हें अच्छी गुणवत्ता युक्त शिक्षा तो मिलेगी ही साथ ही उन्हें प्लेसमेंट के माध्यम से उच्च पैकेज पर नौकरी भी मिलेगी।

बीबीए कोर्स में प्रथम सेमेस्टर से ही छात्र-छात्राओं के उज्ज्वल भविष्य के लिए श्रेष्ठ प्लेटफार्म तैयार करता है। पीडीपी क्लासें जो कि प्लेसमेंट साक्षात्कार में बहुत सहायक होती है। इसी के बल पर छात्र-छात्राएं उच्च पैकेज पर नौकरी प्राप्त कर लेते हैं। परम्परागत रूप से बीबीए के स्तर पर ही छात्र-छात्राओं को आगे बढ़ने के लिए बड़ा एक्सपोजर यहां प्राप्त होता है। संस्थान में बीबीए स्तर पर होने वाली संगोष्ठियां और कार्यशालाएं छात्र-छात्राओं के मस्तिष्क को उनके सपनों को साकार करने के लिए रीचार्ज करने का कार्य करती हैं।

इसके अतिरिक्त समय-समय पर यहां के छात्र-छात्राओं को इण्डस्ट्रियल विजिट अपने आप में प्रत्यक्ष ज्ञान का श्रोत है जिसके माध्यम से छात्र-छात्राएं किताबी ज्ञान और व्यावसायिक ज्ञान दोनों के बीच अच्छा सामंजस्य स्थापित करके आगे का रूचिपूर्ण शिक्षण परिश्रम से पूर्ण करते हैं। ऐसे शैक्षिक वातावरण में समय-समय पर आयोजित होने वाले गैस्ट लैक्चर स्वादिष्ट उत्साह बढा देते हैं। जिससे छात्र-छात्राओं के शिक्षा ग्रहण करने की गति और बढ़ जाती है और उनके भीतर पढ़ने के लिए नई ऊर्जा का संचार होता है।

इस संदर्भ में आर.के. एजूकेशन हब के चैयरमेंन डाॅ. रामकिशोर अग्रवाल और वाइस चैयरमेन पंकज अग्रवाल कहते हैं कि आज के युवाओं में अपार ऊर्जा है। उस ऊर्जा को सकारात्मक दिशा प्रदान करने के लिए उन्हें गुणवत्तायुक्त व्यावसायिक शिक्षा देकर राष्ट्र सेवा की ओर उन्मुख किया जा सकता है। इस प्रयास में राजीव एकेडमी लगातार आगे बढ़ रहा है। छात्र-छात्राओं का लगाव भी इसी ओर है।

ग्रुप के एमडी मनोज अग्रवाल का मानना है कि सामान्य रूप से छात्र-छात्राएं व्यावसायिक कोर्स में बीबीए को ही पसन्द कर रहे हैं, क्योकि आज के व्यावसायिक युग में प्रबन्धन के स्नातको ंकी मांग दिनोंदिन बढ़ रही है। जिसमें राजीव एकेडमी का बीबीए कोर्स अपना एक मुकाम हासिल किये हुए है। निदेशक डा. अमर कुमार सक्सैना का मानना है कि उच्च व्यावसायिक शिक्षण संस्थानों में Rajiv Academy सबसे ऊपर है, संस्थान की व्यवस्थाएं और शिक्षण तकनीकें छात्र-छात्राओं की पहुँच और समझ के अनुरूप नवीनतम हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »