राजस्थान के IT विभाग ने वोडाफोन आइडिया पर 27.5 लाख रु जुर्माना ठोका

राजस्थान में इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी IT डिपार्टमेंट ने वोडाफोन आइडिया को एक मामले में अपने एक ग्राहक को 27.5 लाख रुपये जुर्माना देने के लिए कहा है.
रिपोर्ट के अनुसार टेलीकॉम कंपनी ने ग्राहक की उचित तरीके से पहचान किए बिना एक डुप्लिकेट सिम जारी कर दिया था और उस सिम का इस्तेमाल करके पीड़ित के बैंक खाते से अवैध तरीके से 68.5 लाख रुपये निकाल लिए गए थे.
अख़बार की रिपोर्ट अनुसार जिस व्यक्ति को डुप्लीकेट सिम जारी किया गया था, उसने आईडीबीआई बैंक के एक खाते से 68.5 लाख रुपये निकालकर अपने खातों में ट्रांसफर कर लिया. बाद में उसने पीड़ित को 44 लाख रुपये लौटा दिए लेकिन पीड़ित को बाक़ी रकम नहीं लौटाई.
25 मई 2017 को पीड़ित का मोबाइल नंबर अचानक बंद हो गया था. उसने इसकी शिकायत वोडाफोन आइडिया के हनुमानगढ़ दफ़्तर में कराई जिसके बाद उसे एक नया सिम दिया गया. बार-बार की शिकायतों के बावजूद नए सिम को कंपनी ने एक्टिवेट नहीं किया.
पीड़ित ने इसके बाद कंपनी के जयपुर दफ़्तर में शिकायत की जहां अगले दिन उसका सिम एक्टिव कर दिया गया लेकिन इस बीच उसके खाते से 68.5 लाख रुपये निकाले जा चुके थे.
वोडाफोन आइडिया के ख़िलाफ़ जारी किए गए इस आदेश में कहा गया है कि वो पीड़ित को 2.31 लाख ब्याज के रूप में, 72,000 रुपये उसकी जमा राशि के और 24 लाख रुपये उसे हुए नुक़सान की भरपाई करेगी.
अगर कंपनी एक महीने के भीतर इस रकम का भुगतान नहीं कर पाई तो उसे 10 फीसदी की दर से ब्याज भरना होगा. वोडाफोन इस आदेश को सक्षम अदालत में चुनौती दे सकती है.
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *