राहुल को मनमोहन सरकार का सबकुछ याद, मोदी सरकार का भूल गए

नई दिल्‍ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश में जारी कोरोना संकट के बीच आम लोगों के अकाउंट में डायरेक्ट कैश भेजने की वकालत करते हुए यूपीए सरकार की तारीफ की।
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कोरोना महामारी और देश की अर्थव्यवस्था पर नोबेल पुरस्कार विजेता अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी से चर्चा के दौरान पिछले साल लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस के घोषणापत्र में लाए गए ‘न्याय’ योजना की भी चर्चा की।
वह केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को कई मुद्दों पर घेर चुके हैं लेकिन राहुल मोदी सरकार की डायरेक्ट कैश ट्रांसफर स्कीम की कोई चर्चा नहीं की।
माना जाता है कि 2019 के आम चुनाव में मोदी की दोबारा सत्ता में वापसी के पीछे डायरेक्ट कैश ट्रांसफर स्कीम का भी अहम हाथ था।
राहुल ने फिर की ‘न्याय’ की चर्चा
बनर्जी से चर्चा के दौरान राहुल ने पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस की ‘न्याय’ योजना का जिक्र करना नहीं भूले। उन्होंने बनर्जी से पूछा कि क्या न्याय योजना के तर्ज पर लोगों को पैसे दिए जा सकते हैं।
दरअसल, पिछले लोकसभा चुनाव के समय तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने 25 मार्च को ‘न्याय’ का वादा किया था। इसके तहत देश के करीब पांच करोड़ गरीब परिवारों को सालाना 72 हजार रुपये देने का वादा किया गया था।
चर्चा में मोदी सरकार की योजनाओं को भूले राहुल
अर्थशास्त्री बनर्जी के साथ चर्चा में राहुल ने यूपीए सरकार की तो खूब प्रशंसा की लेकिन मोदी सरकार की डायरेक्ट कैश ट्रांसफर योजनाओं का कोई जिक्र नहीं किया।
मोदी सरकार की डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (DBT) योजनाएं: एलपीजी सब्सिडी
मोदी सरकार ने एलपीजी सिलेंडर पर दी जाने वाली सब्सिडी सीधे उपभोक्ताओं के बैंक खाते में ट्रांसफर करने का फैसला किया था। इससे बिचौलियों की भूमिका खत्म हुई और सीधे जरूरतमंदों को फायदा पहुंचा।
पीडीएस सब्सिडी
केंद्र सरकार ने राशन कार्ड के जरिए अनाजों पर मिलने वाली सब्सिडी भी सीधे कार्डधारकों के खाते में ट्रांसफर करने का फैसला किया था। इससे देश के 8 करोड़ से ज्यादा लोगों को फायदा हुआ और अनाज की कालाबाजारी में कमी आई।
नेशनल सोशल असिस्टेंस प्रोग्राम
नेशनल सोशल असिस्टेंस प्रोग्राम के स्कीमों के तहत बुजुर्गों, विधवाओं और दिव्यागों को केंद्र सरकार सीधे उनके खाते में पैसे भेजती है।
पीएम मोदी राजीव गांधी पर कस चुके हैं तंज
पीएम मोदी कई मौकों पर पूर्व पीएम राजीव गांधी पर तंज कस चुके हैं। मोदी ने कहा कि पहले लोग कहते थे कि केंद्र से 1 रुपया चलता है तो केवल 15 पैसा ही पहुंचता है। आज 1 रुपया निकलता है तो 100 के 100 लाभार्थियों के खाते में जमा हो जाता है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *