राहुल गांधी ने अब चुनावी कार्यक्रम में हिंदू और हिंदुत्‍व पर ज्ञान बांटा

उदयपुर। राजस्थान विधानसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और कांग्रेस के एक-दूसरे पर हमले जारी हैं। एक चुनावी कार्यक्रम में राहुल गांधी ने यहां तक कह दिया कि पीएम मोदी हिंदुत्व की नींव के बारे में भी नहीं जानते हैं। वह कैसे हिंदू हैं?
उदयपुर में इस कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष ने सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाने साधा। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने सर्जिकल स्ट्राइक को राजनीतिक रूप दे दिया जबकि यह फैसला देश की सेना का था।
पांच राज्यों के चुनावों राजनेताओं का गोत्र भी मुद्दा बन रहा है। पार्टियों के नेता अपनी रैलियों में धर्म और जाति का इस्तेमाल करने से भी गुरेज नहीं कर रहे हैं। ऐसे में अब राहुल गांधी ने पीएम मोदी से हिंदुत्व को लेकर एक सवाल पूछा है।
‘प्रधानमंत्री कहते हैं कि वह हिंदू हैं लेकिन यह नहीं जानते’
राहुल गांधी ने कहा, ‘हिंदुत्व का सार क्या है? गीता क्या कहती है? वह ज्ञान हर किसी के साथ है, ज्ञान आपके चारों ओर है। प्रत्येक जीवित चीज के पास ज्ञान है। हमारे प्रधानमंत्री कहते हैं कि वह हिंदू हैं लेकिन हिंदुत्व की नींव के बारे में नहीं जानते। वह किस प्रकार के हिंदू हैं।’
‘सर्जिकल स्ट्राइक मिलिटरी का था निर्णय’
उदयपुर में राहुल गांधी ने कहा, ‘असल में नरेंद्र मोदी ने आर्मी के अधिकार क्षेत्र में दखल देते हुए उसे अपनी सर्जिकल स्ट्राइक का रूप दे दिया। उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक को राजनीतिक रूप दिया जबकि यह मिलिटरी का निर्णय था।’
‘मनमोहन सिंह से आर्मी ने कहा- पाक से बदला लेने की जरूरत’
राहुल गांधी इतने पर ही नहीं रुके। उन्होंने कहा, ‘क्या आप जानते हैं कि नरेंद्र मोदी की सर्जिकल स्ट्राइक की तरह, मनमोहन सिंहजी ने तीन बार ऐसा किया? जब आर्मी मनमोहन सिंह के पास आई और कहा पाकिस्तान जो कर रहा है ऐसे में हमें बदला लेने की जरूरत है तो उन्होंने कहा कि हमें इसे अपने उद्देश्यों के लिए गुप्त रखना चाहिए।’
मोदी सरकार की नीतियों पर राहुल का हमला
मोदी सरकार की नीतियों पर कड़ा प्रहार करते हुए राहुल ने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समझते हैं कि दुनिया का पूरा ज्ञान उनके ही दिमाग से निकलता है और बाकी लोगों को कुछ नहीं मालूम है। यूपीए सरकार के समय एनपीए दो लाख करोड़ रुपये था। मोदी सरकार के चार साल में एनपीए 12 लाख करोड़ रुपये हो गया। नोटबंदी और जीएसटी के बारे में देश की जनता भ्रमित है और इससे अर्थव्यवस्था को नुकसान हुआ। मोदी सरकार युवाओं के लिए रोजगार देने के मामले में पूरी तरह विफल रही है।’
जानिए, क्या थी सर्जिकल स्ट्राइक
बता दें कि उरी में सेना के ठिकाने पर आतंकी हमले के जवाब में भारतीय सेना ने 29 सितंबर 2016 को नियंत्रण रेखा के पार जाकर सर्जिकल स्ट्राइक की थी। इस ऑपरेशन में आतंकियों के सात ठिकाने पूरी तरह तबाह कर दिए गए थे। बड़ी संख्या में आतंकवादी भी मारे गए, जो भारतीय सीमा में घुसपैठ की फिराक में थे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »