कांग्रेस के बर्थडे पर गायब हुए राहुल गांधी, कांग्रेस ने दी सफाई

नई दिल्‍ली। आज कांग्रेस का स्थापना दिवस है लेकिन राहुल विदेश में हैं। दरअसल, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी एकबार फिर नए साल की छुट्टियां मनाने निजी दौरे पर विदेश चले गए हैं। राहुल की इस दौरे की सोशल मीडिया पर सवाल भी खड़े किए जा रहे हैं।
हर बार की तरह राहुल की इस विदेश यात्रा पर इस बार भी हंगामा बरप रहा है क्‍योंकि राहुल की छुट्टी की टाइमिंग कुछ ऐसे फिक्स कर लेते हैं कि विवाद उठ खड़ा होता है। कांग्रेस आज अपना स्थापना दिवस मना रही है, लेकिन राहुल साथ नहीं है। यह महज संयोग नहीं है। पिछले 10 साल की राहुल की छुट्टियों पर गौर करें तो यह साफ दिखता है कि वह विदेश निकलने के लिए आलोचनाओं की परवाह नहीं करते हैं।
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के विदेश दौरे पर मचे हो हल्ला के बीच पार्टी ने सफाई दी है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल ने कहा है कि राहुल इटली अपनी नानी को देखने गए हैं और इसमें कुछ भी गलत नहीं है। उन्होंने बीजेपी पर राहुल की निजी यात्रा पर राजनीति करने का आरोप लगाया है।
कांग्रेस बोली, राहुल की यात्रा में गलत क्या?
वेणुगोपाल ने कहा कि राहुल निजी यात्रा पर गए हैं। वह अपनी नानी को देखने गए हैं और क्या यह गलत है? हर किसी को निजी यात्रा का अधिकार है। बीजेपी इस यात्रा पर निचले स्तर की राजनीति कर रही है। वे राहुल गांधी पर हमला कर रहे हैं क्योंकि वे एक ही नेता को निशाना बनाना चाहते हैं।
इटली में रहती हैं राहुल की नानी
कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने रविवार को बताया था कि राहुल निजी यात्रा पर विदेश रवाना हो गए हैं। हालांकि, उन्होंने जगह का नाम नहीं बताया था लेकिन वेणुगोपाल के बयान के बाद अब साफ हो गया है कि राहुल इटली गए हैं। राहुल अपनी नानी को देखने अक्सर वहां जाते रहते हैं।
राहुल के दौरे की टाइमिंग पर सवाल
राहुल गांधी के विदेश रवाना होने की खबर आने के बाद सोशल मीडिया पर केरल के वायनाड से सांसद राहुल पर सवालों की बौछार होने लगी। यूजर्स उन्हें गंभीर नेता नहीं बता रहे थे। अभी कांग्रेस में स्थायी अध्यक्ष नहीं है। राहुल की मां सोनिया गांधी अंतरिम अध्यक्ष की जिम्मेदारी निभा रही हैं। सूत्रों के अनुसार पार्टी के अंदर भी उनकी इस यात्रा पर सवाल उठ रहे हैं।
पार्टी में कलह, पूर्ण अध्यक्ष नहीं पर राहुल को नहीं परवाह?
बता दें कि पार्टी की कार्यशैली को लेकर G-23 नेताओं ने सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी थी, जिसके बाद भूचाल आ गया था। कुछ दिन पहले सोनिया ने उन सभी नेताओं से बात की थी और उनकी राय सुनी थी। पार्टी अभी पूर्ण अध्यक्ष की तैयारी में जुटी है ऐसे में राहुल का विदेश गमन सबको चौंका रहा है।
जानिए कब-कब विदेश दौरे पर गए राहुल गांधी
– 2015 में बिहार चुनाव के बीच में राहुल गांधी फ्रांस चले गए थे।
– राहुल की सबसे चर्चित छुट्टी फरवरी 2015 की थी, जब राहुल गांधी अचानक देश से बाहर चले गए थे और जब वे 57 दिन बाद दिल्ली लौटे तो पता चला कि वह बैंकाक, म्यामांर घूमने गए थे और उन्होंने ध्यान करना भी सीखा। उस वक्त विपक्ष ने मजाक भी बनाया था कि 2014 की शर्मनाक हार के बाद उनका झुकाव आध्यात्म की ओर हो गया है।
– राहुल गांधी 2014 के लोकसभा चुनाव के ठीक पहले गुप्त स्थान पर छुट्टियां मनाने चले गए थे इसी बीच एक खुली जीप पर घूमते राहुल की फोटो सामने आई थी और बताया गया था कि यह रणथंभौर के नेशनल पार्क की है।
– उत्तराखंड बाढ़ के समय जून 2013 में भी राहुल गांधी विदेश में छुट्टी मना रहे थे, उस वक्त वहां उन्हीं की सरकार थी।
– साल 2012 में हद तब हो गई थी जब वे नए साल की छुट्टियां मनाने फ्रांस चले गए थे जिसमें एक फोटो में वो एक युवती के साथ दिखाई दिए थे।
-31 दिसंबर 2019। राहुल गांधी परवाह न करते हुए नए साल की छुट्टी मनाने नानी के घर इटली चले गए थे। 2019 में जब राहुल विदेश गए थे तो उस समय CAA का विरोध चरम पर था और इस साल कृषि कानूनों का विरोध करते हुए किसान आंदोलन चरम पर है।
आलोचना की परवाह नहीं!
राहुल पिछले कुछ सालों से लगातार दिसंबर के अंत में छुट्टियां मनाने विदेश दौरे पर चले जाते हैं। उनके इस दौरे की तमाम आलोचना होती है लेकिन वे आलोचना की परवाह किए बिना इसबार भी कथित तौर पर इटली रवाना हो गए हैं। 2016 में भी राहुल 28 दिसंबर को छुट्टी मनाने विदेश चले गए थे। राहुल अपनी यात्राओं पर हालांकि कभी कोई सार्वजनिक बयान नहीं दिया है।
पार्टी का 136वां स्थापना दिवस, पर विदेश में राहुल
कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने रविवार को बताया था कि राहुल निजी यात्रा पर विदेश रवाना हो गए हैं। हालांकि, उन्होंने जगह का नाम नहीं बताया था। लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, राहुल इटली गए हैं। इटली में राहुल की नानी रहती हैं और वे अक्सर वहां जाते रहते हैं।
राहुल के दौरे पर सवाल
राहुल गांधी के विदेश रवाना होने की खबर आने के बाद सोशल मीडिया पर केरल के वायनाड से सांसद राहुल पर सवालों की बौछार होने लगी। यूजर्स उन्हें गंभीर नेता नहीं बता रहे थे। अभी कांग्रेस में स्थायी अध्यक्ष नहीं है। राहुल की मां सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) अंतरिम अध्यक्ष की जिम्मेदारी निभा रही हैं। सूत्रों के अनुसार, पार्टी के अंदर भी उनकी इस यात्रा पर सवाल उठ रहे हैं।
पार्टी में कलह, पूर्ण अध्यक्ष नहीं, पर राहुल को नहीं परवाह?
बता दें कि पार्टी की कार्यशैली को लेकर G-23 नेताओं ने सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी थी, जिसके बाद भूचाल आ गया था। कुछ दिन पहले सोनिया ने उन सभी नेताओं से बात की थी और उनकी राय सुनी थी। पार्टी अभी पूर्ण अध्यक्ष की तैयारी में जुटी है ऐसे में राहुल का विदेश गमन सबको चौंका रहा है।
किसान आंदोलन चरम पर
कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन के समर्थक राहुल गांधी इस आंदोलन के चरम के दौरान ही गायब हो गए हैं। हालांकि, वे ट्वीट के जरिए नरेंद्र मोदी (Narendra Modi Govt) सरकार को निशाना जरूर बना रहे हैं लेकिन उनका सशरीर भारत में होना उनके विपक्षी को आलोचना का मौका दे दिया है। कई लोग राहुल की यात्रा की टाइमिंग को लेकर भी सवाल उठा रहे हैं।
क्या छुट्टी प्रेमी हैं राहुल?
पीएम नरेंद्र मोदी जहां अपने काम के जुनून को लेकर जाने जाते हैं और उनके बारे में कहा जाता है कि वह छुट्टी लेते ही नहीं हैं वहीं, राहुल का बार-बार छुट्टी पर जाना उनके छुट्टी प्रेमी होने की तस्दीक करने लगते हैं। जब देश में कोरोना, किसान आंदोलन समेत कई मुद्दों पर विपक्षी दल मोदी सरकार को घेरने में जुटी है तो विपक्ष के प्रमुख नेता का विदेश में होना सवाल खड़े करता है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *