कट्टरपंथी फैज हमीद को पाकिस्‍तान ने बनाया ISI का मुखिया

इस्‍लामाबाद। पाकिस्तान ने अपनी खुफिया एजेंसी ISI के मुखिया के तौर पर लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद को नियुक्त किया। उन्हें ले. जनरल आसिम मुनीर की जगह पर नियुक्त किया गया है। कट्टर माने जाने वाले फैज हमीद को चुना जाना हैरान करने वाला फैसला है।
पाकिस्‍तान का ये फैसला इसलिए खासतौर पर हैरान करता है क्‍योंकि आसिम मुनीर को पद संभाले हुए महज 8 महीने ही हुए थे। आमतौर पर ISI के चीफ का कार्यकाल 3 साल का होता है।
पहले भी ISI में काम कर चुके फैज हमीद को एजेंसी का डायरेक्टर जनरल नियुक्त किया गया है।
पाकिस्तानी सेना की प्रेस विंग ने बयान जारी कर फैसले की जानकारी दी है, लेकिन यह नहीं बताया कि कार्यकाल पूरा होने से पहले ही मुनीर को क्यों हटाया गया।
पाकिस्तान के निर्माण के बीते 72 सालों में आधे से ज्यादा वक्त तक सेना का ही शासन रहा है।
ऐसे में सेना से जुड़े कट्टरपंथी विचारधारा के फैज हमीद को ISI का मुखिया बनाए जाने से साफ है कि उसकी पकड़ पाकिस्तानी सत्ता प्रतिष्ठानों पर मजबूत है। पाकिस्तान में ISI के मुखिया का पद खासा ताकतवर माना जाता है। एजेंसी पर लंबे समय से आतंकियों को पनाह देने और उनके जरिए भारत के खिलाफ छद्म युद्ध छेड़ने के आरोप लगते रहे हैं। अफगानिस्तान तालिबान और अन्य आतंकी संगठनों के प्रश्रय देने के आरोप भी उस पर लगे हैं।
विश्लेषकों के मुताबिक हमीद लंबे समय से ISI में प्रभावशाली रहे हैं। 2017 के अंत में इस्लामाबाद में हुए आंदोलन के गतिरोध को समाप्त करते हुए फैजाबाद एग्रीमेंट कराने में उनकी अहम भूमिका मानी जाती है। पाकिस्तानी सेना के बिजनेस एम्पायर पर एक किताब लिखने वालीं विश्लेषक आएशा सिद्दीका ने कहा, ‘वह बेहद कट्टर हैं।’ आएशा ने फैसले पर सवाल उठाते हुए कहा, ‘यह बेहद आक्रामक फैसला है। इससे यह स्पष्ट संकेत मिलता है कि आर्मी कमजोर नहीं हुई है बल्कि अहम फैसलों में उसका दखल बढ़ा है।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »