श्रीकृष्ण-जन्मस्थान पर धूमधाम से मनायी गयी राधा अष्टमी

मथुरा। राधा अष्टमी के अवसर पर श्रीकृष्ण-जन्मस्थान परिसर में पूर्व नियत कार्यक्रम के अनुसार भगवान श्री केशवदेवजी के श्रीराधा स्वरूप में दर्शन भक्तों के लिये प्रातःकाल से ही आकर्षण का केन्द्र रहे । श्रीकृष्ण-संकीर्तन मण्डल के भक्तों द्वारा श्रीकेशवदेव मन्दिर से चाव निकाली गयी जो श्रीगिर्राजजी, गर्भगृह मन्दिर होकर भागवत-भवन पहुंची जहां देर तक भजन गायन व नृत्य आदि के माध्यम से श्री किशोरी जी की प्राकट्य पूर्व आराधना की गयी ।

मध्यान्ह 12 बजे श्रीराधाजी का प्राकट्य मन्दिर के विद्वान पूजाचार्यों द्वारा कराया गया तदुपरांत संस्थान की प्रबंध-समिति के सदस्य श्रीगोपेश्वरनाथ चतुर्वेदी द्वारा रजत कमल में विराजित श्रीराधाजी की रजत मूर्ति का विधिविधानपूर्वक पंचामृताभिषेक कराने के उपरांत आरती की गयी व भक्तों द्वारा बधायी गायन के मध्य ढेरों उपहार सामग्री भक्तों को लुटायी गयी ।

इस अवसर पर आयोजित विषेश प्रसाद भण्डारे में सैकड़ों भक्तों ने भोजन-प्रसाद गृहण किया । कार्यक्रम का समापन श्रीकृष्ण-सेवा मण्डल द्वारा सांय 7 बजे से राधा जन्म बधाई गायन हेतु आयोजित भजन संध्या ‘एक शाम राधारानी के नाम’ में डीग से पधारे भजन-गायक माधवशरणदास के सुमधुर कण्ठ से गाये भजनों के साथ हुआ जिसमें भक्तगण मगन होकर झूमते देखे गये।

सभी कार्यक्रमों में संस्थान सं. मुख्य अधिशाषी राजीव श्रीवास्तव, विशेष कार्य अधिकारी गिर्राजशरण गौतम, विजय बहादुर सिंह, अनुराग पाठक, नारायण राय, अनिल भाई, अतुल शोरावाला, कन्हैयालाल, पंकज अग्रवाल, राजीव गुप्ता, ब्रजकिशोर घी वाले, विजय बंसल व महेन्द्र प्रताप आदि व्यवस्था संभालते रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »