मुलायम उवाच पर राबड़ी बोलीं, उनकी बातों के अब कोई मायने नहीं

पटना। समाजवादी पार्टी के संरक्षक और सांसद मुलायम सिंह के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फिर से पीएम बनने की शुभकामना देने पर आरजेडी नेता राबड़ी देवी ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि मुलायम की अब उम्र हो गई है और उनकी बातों के कोई मायने नहीं।
उल्‍लेखनीय है कि समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ कर दी और कह दिया कि वह चाहते हैं कि अगली बार भी वही प्रधानमंत्री बनें। उनके इस बयान पर कई बड़े नेताओं ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। इन्हीं में से एक राष्ट्रीय जनता दल की नेता और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने मुलायम की उम्र पर दोष मढ़ डाला।
राबड़ी ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘उनकी उम्र हो गई है। याद नहीं रहता कब क्या बोल देंगे। उनकी बोली का कोई मायने नहीं रखता।’ बता दें कि 16वीं लोकसभा के आखिरी दिन सांसद मुलायम ने कहा था, ‘हम प्रधानमंत्री जी को बधाई देना चाहते हैं कि आपने सबसे मिलजुलकर काम किया। यह सच है कि हमने जब-जब आपसे किसी काम के लिए कहा तो आपने उसी वक्त आदेश दे दिया। इसके लिए हम आपका सम्मान करते हैं।’
मुलायम ने आगे कहा, ‘मैं कहना चाहता हूं कि मेरी कामना है कि सारे सदस्य फिर से जीतकर आएं। मैं कहना चाहता हूं कि हमलोग तो इतना बहुमत नहीं ला सकते तो आप फिर से प्रधानमंत्री बनें।’ उनके इस बयान पर उनके दूसरे बेटे प्रतीक यादव की पत्नी अपर्णा यादव ने कहा, ‘मुलायम सिंह यादव जी के बयान के पीछे जरूर कोई वजह रही होगी। उन्होंने सभी को आशीर्वाद दिया, चाहे वह सरकार का हो या फिर विपक्ष का। बड़े हमेशा ही आशीर्वाद देते हैं।
हालांकि, समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे आजम खान ने कहा, ‘बहुत दुख हुआ यह सुनकर। यह बयान उनके (मुलायम के) मुंह में डाला गया है। यह बयान मुलायम जी का नहीं है, यह बयान नेताजी से दिलवाया गया है।’
अमर सिंह ने बता डाला भ्रमित करने वाला बयान
वहीं एक समय मुलायम सिंह के बेहद करीबी रहे राज्यसभा सांसद अमर सिंह ने कहा, ‘मुलायम सिंह जी का यह बयान केवल भ्रमित करने के लिए है। समाजवादी पार्टी की सरकार में भ्रष्टाचार का जो खेल हुआ, उससे ध्यान हटाने के लिए नेताजी ने इस पैंतरे का इस्तेमाल किया है। बी. चंद्रकला और रमारमन जैसे अधिकारियों के भ्रष्टाचार से बचने का यह तरीका है।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »