क़तर के मुसलमानों को हज के लिए मक्का आने की इजाज़त मिली

सऊदी अरब के सुल्तान सलमान बिन अब्दुल अज़ीज ने क़तर के मुसलमानों को हज के लिए अपने मक्का आने की इजाज़त दे दी है.
इसके लिए उन्हें अलग से इलेक्ट्रॉनिक परमिट जारी किए जाएंगे और सलवा बंदरगाह पर दोनों मुल्कों की सीमाओं को खोलने का फैसला किया गया है.
इसके अलावा सुल्तान सलमान बिन अब्दुल अज़ीज ने सऊदी एयरलाइंस के प्राइवेट जेट विमानों को तीर्थयात्रियों को लाने के लिए दोहा भेजने का भी फैसला किया है.
सऊदी अरब की सरकारी प्रेस एजेंसी के मुताबिक ये सेवा केवल हाजियों के लिए होगी और इसका खर्च क़तर को ही उठाना होगा.
हज यात्रा का मुद्दा
अरब देशों की तरफ से क़तर पर पाबंदी लगाए जाने के बाद क़तर ने पहली बार इसके लिए सऊदी अरब में अपना दूत भेजा था. तब जाकर सऊदी अरब ने ये फैसला लिया है.
बुधवार को जेद्दा में सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान और क़तर के शेख अब्दुल्ला बिन अली बिन अब्दुल्ला अल-थानी की मुलाकात हुई थी.
क़तर ने पिछले महीने सऊदी अरब पर क़तर के तीर्थयात्रियों को मक्का आने से रोकने और हज यात्रा के राजनीतिकरण करने का आरोप लगाया था.
इसके जवाब में सऊदी अरब के विदेश मंत्री अदेल अल-जुबैर ने कहा कि क़तर इस मुद्दे का अंतर्राष्ट्रीयकरण करने की कोशिश कर रहा है.
-BBC