वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड जीतकर PV Sindhu ने रचा इतिहास

नई द‍िल्ली। स्विट्जर्लैंड के बसेल में आज रविवार को खेले गए फाइनल में भारत की 24 वर्षीय PV Sindhu इतिहास रच कर वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बन गई हैं।

स्टार खिलाड़ी और ओलंपिक मेडलिस्ट PV Sindhu ने अपनी चिर प्रतिद्वंद्वी जापान की Nozomi Okuhara को सीधे सेटों में 21-7, 21-7 से हराया।

सिंधु ने इसी के साथ वर्ल्ड चैंपियनशिप का अपना पांचवां मेडल भी जीता। सिंधु लगातार तीसरी बार वर्ल्ड चैंपियनशिप का फाइनल खेल रही थीं। उन्हें पिछले दोनों बार के फाइनल में सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा था। लेकिन इस बाद सिंधु ने 2017 की वर्ल्ड चैंपियन नोकोमी ओकुहारा पर शुरू से ही दबाव बनाए रखा और एकतरफा मुकाबले में रौंद दिया।

सिंधु ने इससे पहले 2013 और 2014 में कांस्य पदक और 2017 और 2018 में रजत पदक जीता था। लेकिन वो पिछले दो बार से गोल्ड से चूक जा रही थीं।

मगर इस बार उन्होंने पूरी तैयारी के साथ वर्ल्ड चैंपियनशिप में कदम रखा और क्वार्टरफाइनल में जहां पूर्व वर्ल्ड चैंपियन ताई जू यिंग को हराया वहीं सेमीफाइनल में मात्र 40 मिनट में अपनी चीनी प्रतिद्वंदी शेन यू फेई को हराया था।

अब पीवी सिंधु भारत के बैडमिंटन इतिहास की पहली ऐसी खिलाड़ी बन गई हैं जिसने वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता।

इससे पहले सिंधु ने टॉस जीतकर पहले सर्व करने का फैसला किया ज‍िसमें दूसरे  सेट में 19-7 से सिंधु आगे रहीं , इतिहास रचते हुए  सिंधु पहले सेट मेंओकुहारा से आगे रहींं, दूसरे सेट में भी सिंधु 2-1 से आगे रहीं।

पहला सेट में क्या हुआ – 
PV Sindhu ने 21-7 से पहला सेट अपने नाम किया
16 मिनट में सिंधु ने पहला सेट जीता
पहले सेट में ओकुहारा पर भारी सिंधु, 15-2 से आगे
सिंधु 11-2 से ओकुहारा से आगे
6 मिनट के खेल के बाद सिंधु की बड़ी बढ़त
10 गेम के बाद सिंधु 8-2 से ओकुहारा से आगे
सिंधु की जोरदार शुरुआत, पहले सेट में 4-1 से आगे
22 शॉट की रैली के साथ सिंधु ने पहला अंक हासिल किया।
– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »