पुलवामा: विस्फोटक से लदी कार लाने वाले आतंकी का भाई गिरफ्तार

श्रीनगर। कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार को जिस कार में करीब 50 किलो विस्फोटक बरामद हुए थे, वो हिज्बुल के आतंकी हिदायतुल्ला मलिक की थी।
पुलिस ने इस बारे में एक बड़ा खुलासा करते हुए हिदायतुल्ला मलिक के भाई समीर मलिक को दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले से गिरफ्तार किया है।
पुलिस अधिकारियों का कहना है कि समीर मलिक से सख्त पूछताछ की जा रही है। हिदायतुल्ला मलिक हिज्बुल का आतंकी है और उसने साल 2019 में कश्मीर में आतंकी संगठन जॉइन किया था।
पुलिस सूत्रों ने बताया है कि हिदायतुल्ला मलिक के भाई से घाटी में लाए गए विस्फोटकों के लिंक और इनके अगले इस्तेमाल की जानकारी हासिल करने की कोशिश है। सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारियों का कहना है कि हिदायतुल्ला की सैंट्रो कार में कठुआ की एक हीरो ग्लैमर मोटरसाइकल की नंबर प्लेट लगाई गई थी, इसके बाद इसे पुलवामा के राजपोरा से कहीं लेकर जा रहा था। इसी दौरान पुलिस की सख्त नाकेबंदी और फायरिंग के कारण आतंकी विस्फोटकों से लदी इस कार को छोड़कर फरार हो गए थे।
शोपियां का निवासी है हिदायतुल्ला मलिक
हिदायतुल्ला मलिक मूल रूप से शोपियां के शारतपोरा इलाके का निवासी है। उसने बीते साल आतंक का रास्ता चुना था और वह दक्षिण कश्मीर में हिज्बुल का नेटवर्क बनाने में बड़ी भूमिका निभा रहा था। हिदायतुल्ला को पुलिस की वॉन्टेड लिस्ट में शामिल किया गया था और लंबे वक्त से सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारी उसकी तलाश कर रहे थे।
गाड़ी पर था कठुआ का नंबर
गुरुवार को पुलवामा में विस्फोटकों से लदी कार मिलने के बाद इसके पीछे सुरक्षाबलों पर हमले की किसी बड़ी साजिश का शक जताया जा रहा है। एजेंसियों के अधिकारियों ने एनआईए के साथ मिलकर इसकी जांच शुरू की है। दूसरी ओर ये भी कठुआ में जिस बाइक का नंबर इस वाहन के साथ इस्तेमाल किया गया है, वो बीएसएफ के एक एएसआई की है।
आतंकी हमले की साजिश का रावलपिंडी कनेक्शन!
एजेंसियों के अधिकारियों ने इस मामले में पाकिस्तान के रावलपिंडी निवासी एक आतंकी जीशान पाशा के शामिल होने का भी शक जताया है। उसके अलावा आदिल नाम के वाहन चालक और कुलगाम निवासी वलीद नाम के एक शख्स के भी इस साजिश में होने की आशंका जताई गई है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *