यूपी में कल माघ पूर्णिमा व संत Ravidas Jayanti को होगा सार्वजनिक अवकाश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में माघ पूर्णिमा को कुंभ में पवित्र स्नान है, संत Ravidas Jayanti पर पूर्व में प्रतिबंधित अवकाश था, जिसे अब सार्वजनिक अवकाश घोषित किया गया है।

उत्तर प्रदेश सरकार ने मंगलवार को माघ पूर्णिमा और संत Ravidas Jayanti के मौके पर सार्वजनिक अवकाश घोषित किया है. प्रमुख सचिव जितेन्द्र कुमार की ओर से जारी आदेश में कहा गया कि 19 फरवरी को माघ पूर्णिमा और संत रविदास जयंती के मौके पर सार्वजनिक अवकाश घोषित किया गया है। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में माघ पूर्णिमा को कुंभ में पवित्र स्नान है।

संत Ravidas Jayanti पर पूर्व में प्रतिबंधित अवकाश था, जिसे अब सार्वजनिक अवकाश घोषित किया गया

बता दें, महान निर्गुण संत कबीर के समकालीन गुरु रविदासजी का जन्म सन 1388 में बनारस में हुआ था हालांकि कुछ विद्वान मानते हैं कि उनका प्रादुर्भाव सन 1398 में हुआ। वे रैदास के नाम से भी जाने जाते हैं। रविदास जी के जमाने में दिल्ली में सिकंदर लोदी का शासन था। कहते हैं सिकंदर लोदी ने उनकी ख्याति से प्रभावित होकर उन्हें दिल्ली आने का निमंत्रण भेजा था लेकिन उन्होंने बड़ी विनम्रता से ठुकरा दिया।

मध्ययुगीन साधकों में रविदासजी का विशिष्ट स्थान है। संत साहित्य में चर्चा मिलती है कि रविदासजी कबीर की तरह ही उच्च कोटि के प्रमुख संत कवियों में विशिष्ट स्थान रखते हैं। स्वयं कबीरदास जी ने ‘संतन में रविदास’ कहकर इन्हें मान्यता दी है।

संत रविदासजी आडम्बर और बाह्याचार के घोर विरोधी थे। वे मूर्तिपूजा, तीर्थयात्रा आदि में बिल्कुल यकीन नहीं करते थे। वे व्यक्ति की निश्छल भावना और आपसी भाईचारे को ही सच्चा धर्म मानते थे। यही कारण है कि रविदासजी की काव्य-रचनाओं में सरलता के साथ व्यावहारिकता का समर्थन मिलता है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »