अमेरिका द्वारा लगाई गई ट्रैवल संबंधी पाबंदियों का विरोध शुरू

Protest start Travel restrictions by US
अमेरिका द्वारा लगाई गई ट्रैवल संबंधी पाबंदियों का विरोध शुरू

अंकारा। अमेरिका द्वारा 8 मुस्लिम बहुल देशों से आ रहे विमानों में यात्रियों पर ट्रैवल संबंधी पाबंदियों का इन देशों में जमकर विरोध होना शुरू हो गया है। बैन वाली सूची में शामिल तुर्की की सरकार ने बुधवार को अमेरिकी प्रशासन को एक चिट्ठी भेजकर इस पर विरोध जताया है और तत्काल बैन हटाने की मांग की है।
स्थानीय डेली हुर्रियत ने तुर्की के परिवहन और कम्युनिकेशन मामलों के मंत्री आमेद आसलैन के हवाले बताया है कि यह बैन पयर्टकों के लिए ठीक नहीं है। बता दें कि अमेरिका की डॉनल्ड ट्रंप सरकार ने 8 मुस्लिम-बहुल देशों से आ रहे विमानों में यात्रियों के ऊपर ट्रैवल संबंधी नई पाबंदियां लगाई हैं। मिस्र, जॉर्डन, कुवैत, कतर, सऊदी अरब, तुर्की और संयुक्त अरब अमीरात (UAE) से आ रहे विमानों में यात्री लैपटॉप, आईपैड, कैमरा और कई अन्य इलेक्ट्रॉनिक सामान नहीं ला सकेंगे। यह प्रतिबंध मंगलवार से लागू किया गया है। ट्रंप प्रशासन ने कहा है कि यह एक अस्थायी व्यवस्था है। प्रतिबंध केवल उन विमानों से सफर कर रहे यात्रियों पर लागू होगा, जो कि सीधे इन देशों से उड़ने वाले विमानों से अमेरिका आ रहे हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि हो सकता है किसी संभावित हमले के खतरे को देखते हुए यह प्रतिबंध लगाया गया हो। अमेरिका के बाद ब्रिटेन ने भी थोड़ा बदलाव करते हुए ऐसा ही प्रतिबंध इन देशों पर लगाया है। आसलैन ने कहा कि वह ब्रिटेन को भी ऐसा ही पत्र भेजेंगे।
खबरों के मुताबिक किसी आतंकवादी हमले की आशंका के मद्देनजर यह बैन लगाया गया है। अब जो जानकारियां सामने आ रही हैं, उनके मुताबिक खुफिया विभाग को हाल के दिनों में पता लगा है कि अल कायदा से जुड़े आतंकवादी बैटरियों और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के बैटरी वाले हिस्से में विस्फोटक छुपाकर धमाका कर सकते हैं।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *