प्रो. एसपी पांडे बने संस्कृति विश्वविद्यालय के कुलपति

मथुरा। संस्कृति विश्वविद्यालय के नए कुलपति के रूप में ख्यातिप्राप्त प्रोफेसर एसपी पांडे ने कार्यभार ग्रहण किया। कुछ ही समय पूर्व संस्कृति विवि में डाइरेक्टर जनरल के पद पर आसीन हुए प्रो. पांडे को विवि प्रशासन ने यह महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी है। विवि के सीईओ डॉ. राणा सिंह जो अभी तक कुलपति का पदभार संभाल रहे थे वे इस पद से मुक्त होकर अपने पूर्ववर्ती विवि के सीईओ के पद पर कार्यरत होंगे।

विवि प्रशासन द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार प्रोफेसर पांडे ने देश की विभिन्न ख्यातिप्राप्त शिक्षण संस्थाओं में उच्च पदों पर कार्यरत रहने के साथ-साथ वर्तमान में वे एआईसीटी नई दिल्ली के मार्गदर्शक भी हैं और टीयर-वन व टीयर सेकंड के लिए वाशिंगटन समझौते के तहत परिणाम आधारित शिक्षा की नई प्रणाली में राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड (एनबीए) विशेषज्ञ हैं।

प्रो. पांडे उच्च शिक्षा में उत्कृष्टता द्वारा मानव पूंजी को फिर से जीवंत करने के विषय पर एनईपी 2020 के एआईसीटीई विशेषज्ञ हैं। उन्होंने एनआईआरएफ कमेटी में काम किया था। आप आरईसी बिजनौर यूपी के बीओजी सदस्य थे। प्रोफेसर पांडे यूपी राज्य पर्यावरण सलाहकार बोर्ड के सदस्य हैं और उन्हें 01 जनवरी 2016 को बीएसएनएल द्वारा भारत संचार सम्मान पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। उन्हें दो अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालयों द्वारा उनके विश्वविद्यालय में असाइनमेंट की पेशकश की गई थी। आप शिक्षण, अनुसंधान और अकादमिक प्रशासन में लगभग 28 वर्षों का अनुभव है।

प्रो. पांडे डॉ एपीजे अब्दुल कलाम विश्वविद्यालय लखनऊ की कार्यकारी समिति,  अकादमिक परिषद और वित्त समिति के सदस्य भी रहे हैं। वह इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स, आईएसटीई, आईएजीई जैसे विभिन्न पेशेवर निकायों के सदस्य और कार्यकारी कार्यकारी रहे हैं। वह अध्ययन बोर्ड के सदस्य और महामाया तकनीकी विश्वविद्यालय के डीन थे और उत्तराखंड तकनीकी विश्वविद्यालय, देहरादून और अन्य कुछ राष्ट्रीय विश्वविद्यालयों में शोध डिग्री समिति के सदस्य हैं। आप १९९५ से २००० तक स्थानीय जांच समिति नागपुर विश्वविद्यालय के सदस्य रहे। आपने मैकेनिकल इंजीनियरिंग से संबंधित पाठ्यक्रमों की एक विस्तृत श्रृंखला को पढ़ाया है। वर्तमान में प्रो. एस.पी. पाण्डेय हापुड़ शहर के लिए उत्तर प्रदेश प्रदूषण बोर्ड लखनऊ के परिवेशी वायु गुणवत्ता निगरानी पर सशुल्क परामर्श कार्य के प्रधान अन्वेषक हैं। वह एमएसएमई नई दिल्ली के तहत टेक्नोलॉजी बिजनेस इनक्यूबेशन में शामिल हैं। वह एजुकेशन फोर पाइंट जीरो के लिए रिसोर्स पर्सन हैं।

– Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *