प्रो. नंदिनी सुंदर व प्रो. अर्चना प्रसाद को Sukma Police की क्‍लीनचिट

रायपुर। DU की प्रोफेसर नंदिनी सुंदर और JNU की प्रोफेसर अर्चना प्रसाद को हत्या के आरोप में Sukma Police से क्‍लीन चिट मिल गई, Sukma Police के अनुसार उसे कोई सबूत नहीं मिला। दिल्ली यूनिवर्सिटी की प्रोफ़ेसर नंदिनी सुंदर और जेएनयू की प्रोफ़ेसर अर्चना प्रसाद को सुकमा पुलिस ने क्लीन चिट दे दी है। नंदिनी और अर्चना को क्लीन चिट मिलते ही नंदिनी ने मीडिया को दिए बयान में कहा कि फर्जी केसों में फंसे आदिवासियों को भी अब रिहा किया जाएगा।

गौरतलब है कि सुकमा के तोंगपाल थाने में दर्ज हत्या के एक मामले में चालान में दोनों का नाम था। जांच के दौरान सबूत नहीं मिलने पर पुलिस ने नंदिनी सुंदर और अर्चना प्रसाद को की क्लीन चीट दे दी है।

बता दें कि 4 नवंबर 2016 को तोंगपाल थाने में हत्या का एक मामला दर्ज हुआ था। नामापारा गांव के सोमनाथ की हत्या अज्ञात माओवादियों ने की थी। इसी मामले में प्रो. नंदिनी सुंदर और प्रो. अर्चना प्रसाद का नाम भी आरोपियों में शामिल किया गया था। सुकमा एसपी जितेन्द्र शुक्ला ने बताया कि जांच के दौरान दोनों के खिलाफ सबूत नहीं मिले हैं। इसलिए उनका नाम चालान से हटा दिया गया है, लेकिन मामले में अभी चालान पेश नहीं किया गया है।

गौरतलब है कि नवंबर 2016 में ग्रामीणों की शिकायत पर नंदिनी सुंदर और अर्चना प्रसाद के खिलाफ भादवि की धारा 302, 120 बी, 147, 148, 149, 352 तथा 25, 27 आर्म्स एक्ट के तहत तोंगपाल थाने में एफआईआर दर्ज की गई थी। इस मामले में दो साल बाद अब पुलिस चालान पेश करने की तैयारी कर रही है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »