गोरखपुर जिला जेल में कैदियों का उपद्रव, गाड़ी फूंकी और पत्‍थर फेंके

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिला जेल में शुक्रवार तड़के कैदियों ने जमकर बवाल काटा। जानकारी के मुताबिक कोर्ट परिसर में मारपीट के बाद सीओ क्राइम की ओर से मिली हिदायत से नाराज कैदियों ने जेलर के सामने आपत्ति जताई थी। जेलर ने उन्हें अपनी शिकायत लिखित में देने को कहा। इसे लेकर कैदियों और जेलकर्मियों के बीच विवाद शुरू हो गया। आरोप है कि कैदियों ने जेलर के साथ हाथापाई की।
बताया जा रहा है कि जेल के अंदर कैदियों ने एक गाड़ी भी जला दी और पेड़ पर चढ़कर पुलिसकर्मियों पर ईंट-पत्थरों से हमला किया।
जानकारी मिलने के बाद भारी पुलिस बल के साथ एडीएम और एसपी सिटी मौके पर पहुंचे। घटना शुक्रवार सुबह 6 बजे के आसपास की है। हालात बेकाबू होने के बाद कई थानों की पुलिस को मौके पर बुलाया गया है।
अदालत परिसर में भी हुई थी मारपीट
खबर के मुताबिक, गुरुवार को गोरखपुर जिला जेल से कोर्ट में पेशी के लिए गए कुछ कैदियों ने अदालत परिसर में आपस में मारपीट की थी। इसी प्रकरण की जांच के लिए सीओ क्राइम प्रवीण सिंह गुरुवार को जेल पहुंचे थे और उन्होंने वहां कैदियों से पूछताछ के बाद उन्हें शांति से रहने तथा ऐसी घटना न दोहराने की हिदायत दी थी। इसी बात को लेकर जेल में बंद दो कैदियों कोईल यादव और गोविंद यादव ने जेलर के सामने आपत्ति दर्ज कराई थी।
जेलर से हाथापाई
जेलर ने दोनों कैदियों से अपनी शिकायत लिखकर देने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि वह इस शिकायत को उच्चाधिकारियों के सामने रखेंगे। जेलर की यही बात कैदियों को नागवार गुजरी और उन्होंने जेल परिसर में गोलबंदी शुरू कर दी। वे जेलर प्रेम सागर शुक्ल और डेप्युटी जेलर प्रभाकांत पांडेय से उलझ गए और उनसे हाथापाई करने लगे। आरोप है कि उन्होंने जेल के सीसीटीवी कैमरे को भी तोड़ दिया और हंगामा करने लगे।
सूचना पाकर पहुंचे प्रशासनिक अधिकारी
बवाल बढ़ता देखकर जेलर ने जिला प्रशासन को इसकी सूचना दी। इसके बाद जिला प्रशासन की ओर से एडीएम सिटी राकेश श्रीवास्तव और एसपी सिटी कौस्तुभ पुलिस बल के साथ तत्काल मौके पर पहुंचे। दोनों अधिकारी कैदियों से बातचीत कर मामला सुलझाने की कोशिश में लगे हैं। कैदियों ने सर्किल का मुख्य द्वार बंद कर रखा है। इस वजह से प्रशासनिक अधिकारी गेट के इस ओर से ही उनसे वार्ता कर रहे हैं। फिलहाल, जेल के भीतर स्थिति नियंत्रण में बताई जा रही है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *