मध्य प्रदेश चुनाव से पहले दिग्विजय सिंह और Jyotiraditya Scindia को मिली बड़ी जिम्मेदारी

नई दिल्‍ली। कांग्रेस पार्टी ने मध्य प्रदेश में होने वाले आगामी चुनावों को देखते हुए मध्य प्रदेश चुनाव से पहले दिग्विजय सिंह और Jyotiraditya Scindia को बड़ी जिम्मेदारी दी है। पार्टी ने अपनी रणनीति में बड़ा बदलाव किया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी राज्य स्तरीय यूनिट में बदलाव करते हुए प्रदेश के दिग्गज नेताओं को बड़ी जिम्मेदारी दी है।

कर्नाटक के बाद अब कांग्रेस ने अगली तैयारी शुरू कर दी है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की नजर अब मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में होने वाले विधानसभा चुनावों पर है।इसके लिए जमीनी स्तर पर अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं। अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को मध्यप्रदेश कांग्रेस में कई कमेटियों के गठन को मंजूरी दी है। इसके अलावा राहुल गांधी ने 20 जिलों के अध्यक्षों की नियुक्ति को भी मंजूरी दी है।

इन कमेटियों का हुआ गठन

मध्यप्रदेश में तालमेल कमेटी, चुनाव प्रचार कमेटी, चुनावी रणनीति और योजना कमेटी, अनुशासनात्मक कार्रवाई कमेटी, मैनिफेस्टो कमेटी, मीडिया और संचार कमेटी के गठन को मंजूरी दी है।

राहुल गांधी ने वरिष्ठ नेता और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को समन्वय समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया है। वहीं युवा चेहरे ज्योतिरादित्य सिंधिया को मध्य प्रदेश चुनाव अभियान समिति का अध्यक्ष बनाया है।

हिमाचल कांग्रेस प्रभारी के पद से सुशील कुमार शिंदे को हटाया

वहीं दूसरी ओर हिमाचल कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी सुशील कुमार शिंदे को कांग्रेस आलाकमान ने उनके पद से हटा दिया है। शिंदे के स्थान पर कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने रजनी पाटिल को तुरंत प्रभाव से हिमाचल कांग्रेस का नया प्रभारी नियुक्त किया है। दिल्ली में मंगलवार को कांग्रेस हाईकमान की ओर से यह फैसला किया गया है। कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने रजनी पाटिल को हिमाचल की कमान सौंपी है। रजनी हिमाचल नई प्रभारी होंगी।

साथ कांग्रेस आलाकमान ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार शिंदे के योगदान और कठिन परिश्रम को सराहा है। गौरतलब है कि 22 जुलाई 2017 को अंबिका सोनी के इस्तीफा देने के बाद सुशील शिंदे को हिमाचल कांग्रेस प्रभारी नियुक्त किया गया था। प्रदेश में शिंदे के प्रभार में ही कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव लड़े थे लेकिन करारी हार का सामना करना पड़ा था। हिमाचल विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 21 सीटें, जबकि भाजपा को 44 सीटें मिली।

रजनी पाटिल का जन्म पांच दिसंबर 1958 को हुआ। वह महाराष्ट्र से संबंध रखती हैं। वह राज्यसभा में महाराष्ट्र का प्रतिनिधित्व करती हैं। उन्हें महाराष्ट्र के पूर्व सीएम विलासराव देशमुख की मौत के बाद 2013 में राज्यसभा के लिए चुना गया था।

रजनी 1996 में सबसे पहले बीड लोकसभा सीट से चुनाव जीती थी लेकिन बाद में वह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में शामिल हो गईं थी। नया प्रभारी नियुक्त होने के बाद हिमाचल कांग्रेस में भी फेरबदल की अटकलें तेज हो गई हैं।

राहुल गांधी ने चुनाव प्रचार कमेटी के लिए Jyotiraditya Scindia को चुना है। उन्हें कमेटी का प्रमुख नियुक्त किया गया है, इस कमेटी में Jyotiraditya समेत 15 लोग शामिल हैं।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »