वृंदावन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बच्‍चों को भोजन परोसा, उनके साथ ही खुद भी खाया

बच्‍चों को अपने हाथ से खाना खिलाते प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी
बच्‍चों को अपने हाथ से खाना खिलाते प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी

वृंदावन (मथुरा)। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार आज वृंदावन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बच्चों को न सिर्फ भोजन परोसा बल्‍कि उनके साथ भोजन भी ग्रहण किया। यह कार्यक्रम अक्षय पात्र फाउंडेशन द्वारा गरीब बच्चों को 300 करोड़वीं थाली परोसे जाने के उपलक्ष्य में आयोजित किया गया था।
इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने बचपन के आस-पास मजबूत सुरक्षा घेरा बनाने का प्रयास किया है। इस सुरक्षा के तीन पहलू हैं- खानपान, टीकाकरण और स्वच्छता। अब बदली परिस्थितियों में पोषक तत्‍वों के साथ-साथ पर्याप्त और अच्छी गुणवत्ता वाला भोजन बच्चों को मिले, ये सुनिश्चित किया जा रहा है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि जैसे मजबूत इमारत के लिए नींव का ठोस होना जरूरी है। वैसे ही विकसित देश के लिए शक्तिशाली और पोषित बचपन का होना जरूरी है। जैसा कि यहां बताया गया है कि 1500 बच्चों से ये अभियान शुरु हुआ था और आज 17 लाख बच्चों को पोषक आहार से जोड़ रहा है।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पहले जब बच्चों के स्वास्थ्य की बात होती थी तो मां के की तकलीफ को नजरंदाज कर दिया जाता था, लेकिन अब इस स्थिति को बदलने का प्रयास किया जा रहा है।
मोदी ने कहा कि स्वास्थ्य का सीधा संबंध पोषण से है, यदि हम पोषण के अभियान को हर माता तक पहुंचाने में सफल हुए तो अनेक जीवन बच जाएंगे। इसी सोच के साथ हमारी सरकार ने पिछले वर्ष राजस्थान के झूंझनू से देशभर में राष्ट्रीय पोषण मिशन की शुरुआत की थी।
इस दौरान प्रधानमंत्री ने गौवंश का जिक्र करते हुए कहा कि गौ माता के दूध का कर्ज इस देश के लोग नहीं चुका पाएंगे। गाय हमारी संस्कृति और परंपरा का महत्वपूर्ण हिस्सा रही है।

PM Narendra modi to serve 3 billionth Thali Akshay patra in vrindavan

आज अक्षय पात्र फाउंडेशन के ”300 करोडवीं थाली” कार्यक्रम में हिस्सा लेने यहां पहुंचे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी, कार्यक्रम में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल राम नाईक भी मौजूद रहे

प्रधानमंत्री मोदी ने लाखों गरीब बच्चों को भोजन उपलब्ध करने के लिए अक्षय पात्र फाउंडेशन को साधुवाद और शुभकामनाएं भी दीं। मोदी ने गीता के श्वलोक का उदाहण देते हुए कहा कि जो दान कर्तव्य समझकर उचित समय और योग्य व्यक्ति को दिया जाता है, उसे सात्विक दान कहते हैं।
अक्षय पात्र फाउंडेशन के कार्यक्रम की शुरुआत स्कूली बच्चों ने सरस्वती वंदना गाकर की। इसके बाद प्रधानमंत्री ने अक्षय पात्र की प्रेरणा श्री प्रभुपाद की प्रतिमा पर पुष्पार्जन किया। मंच पर प्रधानमंत्री मोदी के साथ मंच पर राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, कैबिनेट मंत्री और भाजपा सांसद मौजूद रहे।
अक्षय पात्र फाउंडेशन के कार्यक्रम स्थल पर सुबह ही स्कूल बच्चे, साधु-संत का आना शुरू हो गया था। आगुंतकों की सघन तलाशी के बाद अंदर प्रवेश दिया गया। कार्यक्रम में भाजपा के कार्यकर्ता और दानदाता भी पहुंचे। पूरा पंडाल साधु-संत, स्कूली बच्चे समेत हजारों लोग से खचाखच भरा था। उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन को लेकर वृंदावन में सुरक्षा चाक चौबंद रही।
-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »