‘सफल’ दौरे के बाद चीन से म्यांमार रवाना हुए प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी

चीन के ‘सफल’ दौरे के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज दो दिवसीय म्यांमार दौरे पर रवाना हो गए। ब्रिक्स सम्मेलन में आंतकवाद के मुद्दे पर चीन को साधने के बाद मोदी का फोकस अब अपने दूसरे पड़ोसी म्यांमार से मजबूत भावनात्मक कनेक्शन पैदा करने पर होगा। उन्होंने म्यांमार को ‘भारत का करीबी दोस्त’ भी कहा है। म्यांमार में रहने के दौरान पीएम मोदी कम से कम 3 जगहों पर जाएंगे। इस देश में रहने वाले भारतीय समुदाय के लोगों के बीच मोदी का एक कार्यक्रम भी होना है। यह इवेंट यांगून के थुवाना स्टेडियम में होगा।
इससे पहले भारतीय समुदाय को लिखे खत में पीएम ने कहा कि वह बेहद ‘खुशी और उत्साह’ के साथ म्यांमार का दौरा शुरू कर रहे हैं। मामले से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक पीएम ने ईमेल में कहा, ‘मेरी यह दो दिवसीय यात्रा म्यांमार का पहला दोपक्षीय दौरा है। म्यांमार एक मूल्यवान पड़ोसी और भारत का करीबी दोस्त है।’ यांगून स्थित थुवाना स्टेडियम में 32 हजार लोग लोग बैठ सकते हैं। यहां मोदी का कार्यक्रम 6 सितंबर को होना है। पीएम ने अपने ईमेल में कहा, ‘बीते कुछ दशकों में म्यांमार में रहने वाले भारतीय समुदाय ने भारत और म्यांमार को बेहद नजदीक ला दिया है।’
पीएम श्वेदगॉन पगोड़ा, आंग सान और यांगून स्थित जनरल की समाधि पर जाएंगे। श्वेदगॉन पगोड़ा करीब 2500 साल पुराना है। यहां गौतम बुद्ध के बाल और कई अन्य पवित्र निशानियां मौजूद हैं। वहीं, माना जाता है कि 1946 में जनरल आंग सान ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए ब्रिटिश सरकार से आजादी की मांग की थी। उनकी बेटी आंग सान सू ची ने भी 1988 में एक बड़ी बैठक को संबोधित करते हुए सैन्य शासन से आजादी की मांग की थी। जनरल ऑन्ग सैंग की याद में उनके घर को म्यूजियम में तब्दील कर दिया गया है। पीएम मोदी मार्टर मोसोलियम (Martyrs Mausoleum) भी जाएंगे, जहां ऑन्ग सैंग के अवशेष रखे हैं। उनकी 1947 में हत्या कर दी गई थी।
पीएम मोदी यहां शताब्दी पुराने आनंद मंदिर जाएंगे। यह म्यांमार में प्रसिद्ध बौद्ध धार्मिक स्थल है। मोदी मंगलवार दोपहर राजधानी ने-पी-टॉ पहुंचेंगे। यहां उनका सेरेमोनियल वेलकम होगा, जिसके बाद वह प्रेजिडेंट हूतिन कॉ से मिलेंगे। मोदी के लिए राष्ट्रपति ने एक भोज का आयोजन किया है। बुधवार को पीएम मोदी यहां की लीडर सू ची से मुलाकात करेंगे। इसके बाद प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत और प्रेस को संबोधन होगा।
बता दें कि म्यांमार में मोदी के कम से कम 15 कार्यक्रम हैं। पीएम ने यहां भारतीय समुदाय के लोगों को न्योता दिया है कि वे नरेंद्र मोदी मोबाइल ऐप के जरिए उन्हें अपने विचारों और आइडिया से अवगत कराएं। मोदी ने कहा कि वह अपनी स्पीच के दौरान इन आइडिया का जिक्र करेंगे। मोदी ने अपने ईमेल में लिखा है, ‘6 सितंबर की शाम को मैं यांगून में भारतीय समुदाय को संबोधित करूंगा। मैं वहां आपका इंतजार करूंगा। हमें भारतीय समुदाय पर अत्यधिक गर्व है, जिसने भारत को वैश्विक मंच पर गर्व करने का मौका दिया है।’
-एजेंसी