प्रधानमंत्री Modi ने कहा, बीते चार सालों में देश के अंदर ईमानदारी का माहौल बना

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र Modi ने शुक्रवार को दिल्ली एम्स में नेशनल एजिंग इंस्टीट्यूट की नींव रखी। इस मौके पर उन्होंने कहा कि मैंने देश के डॉक्टरों से आग्रह किया था कि महीने में एक बार क्या वो गर्भवती महिलाओं की मुफ्त जांच कर सकते हैं ? हजारों डॉक्टर इस कार्य के लिए आगे आए।  अब तक देश में गर्भवती महिलाओं की 1.25 करोड़ जांच की जा चुकी है।मैं इस अभियान में हर मेडिकल प्रोफेशनल की प्रशंसा करता हूं।

Modi ने कहा कि हम 2025 तक देश को TB से मुक्त करने के लिए कार्य कर रहे हैं। विश्व के अन्य देशों ने खुद को TB मुक्त करने के लिए वर्ष 2030 तक का समय रखा है। दुनिया की नजर भारत पर है कि क्या वो ऐसा कर पाएगा। मुझे देश के मेडिकल सेक्टर पर भरोसा है कि वो इस चुनौती पर पूरी प्रतिबद्धता से काम करेगा। स्वस्थ परिवार से ही स्वस्थ समाज और स्वस्थ समाज से ही स्वस्थ राष्ट्र का निर्माण होता है। आप पर देश को स्वस्थ रखने की जिम्मेदारी है। इसलिए राष्ट्रपति जी भी आपको राष्ट्र निर्माण का एक महत्वपूर्ण प्रहरी कहते हैं।

मेरी एक अपील पर 1 करोड़ 25 लाख लोगों ने एलपीजी सब्सिडी छोड़ दी। पिछले 9 महीने में 42 लाख वरिष्ठ नागरिकों ने मर्जी से रेल किराए में छूट नहीं ली, जबकि इसके लिए मैंने किसी से कहा भी नहीं। इन लोगों की सराहना करता हूं। बीते 4 सालों में देश में ईमानदारी का माहौल बना है। लोग विकास में योगदान देने के लिए खुद आगे आ रहे हैं। ट्रैक्स चुकाने वालों को भरोसा है कि उनके द्वारा भरे गए पैसे विकास के लिए खर्च किए जाएंगे।
मोदी ने बताया कि उनकी दूसरी अपील पर प्राइवेट डॉक्टरों ने हर महीने की 9 तारीख को मुफ्त में गर्भवती महिलाओं का इलाज शुरू किया। गरीब और पिछड़े इलाकों से आने वाली करीब 1 करोड़ 25 लाख महिलाओं का इसका फायदा मिला है। उन्होंने केंद्र की आयुष्मान भारत और राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना का जिक्र किया। Modi ने कहा कि ज्यादातर प्राइवेट अस्पतालों को योजनाओं से जोड़ा जा चुका है। गरीबों और मध्यम वर्ग को इसका लाभ मिलेगा।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »