अयोध्‍या के रामकथा पार्क में बोले राष्‍ट्रपति: जहां राम हैं, वहीं अयोध्‍या है

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद का कहना है कि राम के बिना अयोध्‍या, अयोध्‍या नहीं है। जहां राम हैं वहीं अयोध्‍या है। राष्‍ट्रपति रविवार को अयोध्‍या के रामकथा पार्क में बोल रहे थे। वह यूपी के चार दिनों के दौरे पर आए हैं।
राष्‍ट्रपति ने कहा, ‘रामकथा की लोकप्रियता भारत में ही नहीं है, यह विश्‍वव्‍यापी है। रामायण का प्रचार इसलिए जरूरी है क्‍योंकि इसमें वर्णित मानव जीवन के मूलभूत मूल्‍यों की सार्थकता मानवता के लिए हमेशा रहेगी। दर्शन के अलावा रामायण में हमें जीवन के प्रत्‍येक क्षेत्र में कैसे व्‍यवहार करें, इसके आदर्श मानक मिलते हैं।’
भारीतय जीवन मूल्‍यों का आदर्श
अयोध्या में रामकथा पार्क के उद्घाटन के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद बोले, ‘आप सब के बीच अयोध्या में इस रामकथा पार्क में आकर मुझे प्रसन्नता हो रही है। हम सब रामकथा के महत्व के बारे में जानते हैं। यह कहा जा सकता है कि भारतीय जीवन मूल्यों के आदर्श और उपदेश रामायण में समाहित है।’
जहां राम वहीं अयोध्‍या
उन्‍होंने आगे कहा कि ‘राम के बिना अयोध्या, अयोध्या है ही नहीं। अयोध्या तो वहीं है जहां राम है। इस नगरी में प्रभु राम हमेशा के लिए विराजमान है इसलिए यह स्थान सही अर्थों में अयोध्या है। अयोध्या का शाब्दिक अर्थ है कि जिसके साथ युद्ध करना असंभव हो।’
योगी सरकार की सराहना
यूपी की योगी सरकार की सराहना करते हुए उन्‍होंने कहा, ‘उत्तर प्रदेश सरकार ने रामायण कॉन्क्लेव का आयोजन कर कला एवं संस्कृति के माध्यम से रामायण को जन-जन तक पहुंचाने का जो अभियान आज शुरू किया है उसके लिए मैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी टीम की सरहना करता हूं।’
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *