राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नर्सों के साथ मनाया रक्षाबंधन

नई दिल्‍ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस साल रक्षाबंधन का त्योहार नर्सों के साथ मनाया। द ट्रेंड नर्सेज एसोसिएशन ऑफ इंडिया, मिलिट्री नर्सिंग सर्विस और प्रेसीडेंट एस्टेट क्लीनिक की नर्सों ने राष्ट्रपति भवन जाकर कोविंद की कलाई पर राखियां बांधीं।
राष्ट्रपति ने कहा कि नर्स बहनों ने कोविड- 19 महामारी में देश के रक्षक की भूमिका निभाई। राष्ट्रपति ने रक्षाबंधन के मौके पर देशवासियों को बधाई भी दी।
राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने सोमवार को समस्त देशवासियों को रक्षाबंधन की शुभकामनाएं देते हुए सभी से आग्रह किया कि वे महिलाओं के सम्‍मान और सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध रहने का संकल्‍प दोहराएं। राष्ट्रपति ने ट्वीट कर कहा, ‘रक्षाबंधन पर सभी देशवासियों को बधाई! राखी प्रेम और विश्‍वास का वह अटूट धागा है जो बहनों को भाइयों से जोड़ता है। आइए, आज हम सब महिलाओं के सम्‍मान और सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध रहने का संकल्‍प दोहराएं।’
रक्षाबंधन को समाज में बंधुत्व की भावना का प्रतीक बताते हुए उपराष्ट्रपति ने कहा कि माताओं, बहनों और बेटियों की सुरक्षा, सम्मान और उनका सशक्तिकरण सभी का दायित्व है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘रक्षाबंधन के पावन अवसर पर देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं! राखी भाई बहन के पवित्र स्नेह का प्रतीक है जो नारी की गरिमा और सम्मान की रक्षा की अपेक्षा भी करती है। परिवार और समाज में माताओं, बहनों और बेटियों की सुरक्षा, सम्मान और उनका सशक्तिकरण सभी का दायित्व है।’
उन्होंने इस अवसर पर लोगों से अपील की कि वे कोरोना महामारी के इस दौर में परस्पर सहिष्णुता, संक्रमण से प्रभावित लोगों और उनके परिजनों के प्रति सहानुभूति और सहायता का भाव रखें। साथ ही उन्होंने बंदी के कारण प्रभावित हुए श्रमिक भाइयों को हर संभव मदद करने का भी अनुरोध किया। उन्होंने कहा, ‘यही इस रक्षाबंधन को सार्थक बनाएगी।’ श्रावण मास की पूर्णिमा में हर साल मनाया जाने वाला यह पर्व बहन-भाई के प्यार और पवित्र रिश्ते को और गहरा करता है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *