राष्ट्रपति ने चार जानी-मानी हस्तियों को राज्‍यसभा के लिए मनोनीत किया

नई दिल्ली। राष्ट्रपति ने राज्यसभा में चार जानी-मानी हस्तियों को मनोनीत किया है। राज्यसभा के नए चेहरों में किसान नेता राम शकल, लेखक और स्तंभकार राकेश सिन्हा, मूर्तिकार रघुनाथ महापात्रा और क्लासिकल डांसर सोनल मानसिंह का नाम शामिल है। खास बात यह है कि इस बार फिल्म या खेल जगत से किसी भी हस्ती को राज्यसभा नहीं भेजा गया है।
चारों हस्तियां चार अलग-अलग राज्यों से हैं और ये अपने-अपने क्षेत्र में काफी मशहूर हैं। 2019 के चुनावों को लेकर इस कदम को महत्वपूर्ण माना जा रहा है। राम शकल उत्तर प्रदेश से आते हैं। इन्होंने दलित समुदाय में काफी काम किया है। वहीं, राकेश सिन्हा संघ के विचारक हैं। वह टीवी चैनलों पर बीजेपी का पक्ष रखते हैं। वह दिल्ली विश्वविद्यालय में एसोसिएट प्रोफेसर भी हैं। सोनल मानसिंह देश की विख्यात डांसर हैं। रघुनाथ महापात्रा ने जगन्नाथ मंदिर से संबंधित महत्वपूर्ण काम किया है। वह उड़ीसा से आते हैं।
माना जा रहा है कि इस फैसले से सरकार ने दलित समुदाय को साधने की कोशिश की है। राष्ट्रपति ने ऐसे समय में चार सदस्यों को मनोनीत किया है जब राज्यसभा में उपसभापति का चुनाव होना है। ऐसे में चार सदस्यों के मनोनीत होने से सरकार के संख्याबल में भी महत्वपूर्ण वृद्धि हुई है। आइए इन हस्तियों के बारे में विस्तार से जानते हैं-
1. राम शकल (समाज सेवा)
राज्य- उत्तर प्रदेश
शिक्षा- MA (गोरखपुर विश्वविद्यालय)
– इन्होंने दलित समुदाय के उत्थान के लिए काफी काम किया है।
– इनकी छवि किसानों, श्रमिकों और प्रवासियों के हितों की बात करने वाले किसान नेता की है।
– चार दशकों से यह तहसील, जिला और राज्य स्तर पर काम कर रहे हैं।
– रॉबर्ट्सगंज (यूपी) से वह तीन बार सांसद भी रहे हैं।
– श्रमिक और कल्याण, ऊर्जा, कृषि, पेट्रोलियम और नेचुरल गैस से संबंधित संसद की समितियों के सदस्य भी रहे हैं।
2. राकेश सिन्हा, साहित्य (शिक्षाविद और लेखक)
राज्य- बिहार/ दिल्ली
शिक्षा- पीएचडी (कोटा विश्वविद्यालय), एमफिल (दिल्ली विश्वविद्यालय)
– यह जाने-माने लेखक और दिल्ली यूनिवर्सिटी के एक कॉलेज में एसोसिएट प्रोफेसर हैं।
– यह दिल्ली स्थित थिंक टैंक इंडिया पॉलिसी फाउंडेशन (IPF) के संस्थापक और मानद निदेशक हैं।
– इस समय इंडियन काउंसिल ऑफ सोशल साइंस रिसर्च के बोर्ड मेंबर हैं।
– वह पहले हिंदी सलाहकार समिति और फिल्म सर्टिफिकेश अपीलेट ट्राइब्यूनल के सदस्य भी रहे हैं।
– वह कई अखबारों में नियमित लेख लिखते हैं और टीवी चैनलों पर बीजेपी और संघ का पक्ष रखते हैं।
– इन्होंने कई पुस्तकें भी लिखी हैं, जिसमें हेडगेवार की जीवनी भी शामिल है।
– इन्हें केंद्रीय हिंदी संस्थान की ओर से दीनदयाल उपाध्याय अवॉर्ड भी मिल चुका है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »