राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप को हवाई की अदालत से तगड़ा झटका

President Donald Trump Strong shock from Hawaii Court
राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप को हवाई की अदालत से तगड़ा झटका

अमरीकी प्रांत हवाई की एक अदालत ने राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप की ओर से छह मुस्लिम बहुल देशों के नागरिकों के लिए लगाए गए यात्रा प्रतिबंधों पर अनिश्चितकाल के लिए रोक लगा दी है.
जज डेरिक वॉटसन के इस फ़ैसले का मतलब यह हुआ कि मामला जब तक अदालत में है राष्ट्रपति ट्रंप अपने आदेश को लागू नहीं कर पाएंगे.
हवाई, अमरीका के उन राज्यों में से एक है जहां ट्रंप के इस प्रतिबंध को रोकने की कोशिश कर रहे हैं.
मुक़दमे के दौरान अदालत ने कहा कि ये पाबंदी मुसलमानों के प्रति भेदभाव है और इसका असर पर्यटन और विदेशी छात्रों और कामगारों के आने पर पड़ेगा.
उधर राष्ट्रपति ट्रंप का कहना है कि नया ट्रेवल बैन चरमपंथियों को अमरीका आने से रोकता है.
हवाई के अटार्नी और अमरीकी न्याय विभाग की दलीलें सुनने के बाद जज डेरिक वॉटसन ने बुधवार रात यह फ़ैसला सुनाया.
छह मार्च को जारी राष्ट्रपति ट्रंप का कार्यकारी आदेश अनुसार ईरान, लीबाया, सोमालिया, सूडान और यनम के नागरिकों के अमरीका आने पर 90 दिन की पाबंदी और शरणार्थियों के आने पर 120 दिन की पाबंदी लगाता है.
इस साल जनवरी में पहले जारी इस तरह के आदेश से लोगों में भ्रम फैल गया था. लोगों ने इसका विरोध किया था. इस पर सिएटल की एक अदालत ने रोक लगा दी थी.
हवाई की अदालत के इस फ़ैसले के खिलाफ नाइंथ सर्किट कोर्ट ऑफ़ अपील में याचिका दायर किए जाने की संभावना है. इसी अदालत ने सिएटल की अदालत के फ़ैसले पर रोक लगाने से इंकार कर दिया था.
राष्ट्रपति के कार्यकारी आदेश में पहले इराक़ का भी नाम था लेकिन अधिकारियों के मुताबिक़ इराक की सरकार ने वीज़ा की जांच-पड़ताल बढ़ा दी थी. इसके बाद उसका नाम इस सूची से हटा दिया गया था.
संशोधित आदेश में सीरियाई शरणार्थियों पर लगाई गई अनिश्चितकालीन पाबंदी को भी हटा लिया था. इसमें कहा गया था कि इन देशों के जिन लोगों के पास ग्रीनकार्ड है, उनके आने जाने पर कोई पाबंदी नहीं रहेगी.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *