53वीं नेशनल Cross Country चैम्पियनशिप की तैयारियां पूरी

मथुरा। एथलेटिक्स फेडरेशन आफ इंडिया, यूपी एथलेटिक्स एसोसिएशन, मथुरा एथलेटिक्स संघ और संस्कृति यूनिवर्सिटी की संयुक्त मेजबानी में 20 जनवरी, रविवार को भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की याद में होने जा रही 53वीं नेशनल Cross Country चैम्पियनशिप की सभी तैयारियां पूरी हो चुकी है।

शनिवार को उत्तर प्रदेश एथलेटिक संघ के सचिव पी.के. श्रीवास्तव की अगुआई में आयोजन के प्रमुख जी. कृष्णन, नीरज कुमार, मथुरा एथलेटिक संघ के अध्यक्ष अनिल वाजपेयी, सचिव हरिमोहन रावत, जय सिंह चौहान, जय सिंह बघेल, मुकेश यादव, पदम, दलवीर सिंह, एस.के. यादव, महेन्द्र राजपूत आदि ने न केवल तैयारियों का जायजा लिया बल्कि बेहतरीन व्यवस्थाओं पर संतोष व्यक्त किया।

ज्ञातव्य है कि रविवार को संस्कृति यूनिवर्सिटी में भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की याद में होने जा रही 53वीं नेशनल Cross Country चैम्पियनशिप में शिरकत करने के लिए देश के लगभग सभी राज्यों के लगभग छह सौ से अधिक महिला-पुरुष, बालक-बालिका खिलाड़ी अपना दमखम दिखाने मथुरा आ चुके हैं। विभिन्न चरणों में होने वाली यह प्रतियोगिता सुबह साढ़े सात बजे से प्रारम्भ होगी। प्रतियोगिता का शुभारम्भ उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा, मथुरा के प्रथम नागरिक डा. मुकेश आर्यबंधु, एसएसपी सत्यार्थ अनुरुद्ध पंकज और चेयरमैन बाबी जादौन के करकमलों से होगा। प्रतियोगिता का पारितोषिक वितरण मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी, विधायक श्याम सुन्दर शर्मा, कुलपति वेटनरी विश्वविद्यालय के.एम.एल. पाठक, एडीएम रवीन्द्र कुमार, डा. ललित भनोट आदि करेंगे।

कुलाधिपति सचिन गुप्ता ने अपने संदेश में कहा कि संस्कृति यूनिवर्सिटी खेल और खिलाड़ियों के प्रोत्साहन की दिशा में निरंतर प्रयासरत है। संस्कृति यूनिवर्सिटी शिक्षा के साथ ही खेलों को बढ़ावा देने को प्रतिबद्ध है। श्री गुप्ता ने बताया कि 53वीं नेशनल क्रास कंट्री चैम्पियनशिप के आयोजन को लेकर तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा चुका है। टेक्निकल कमेटियों के साथ ही अन्य व्यवस्थाओं के लिए सभी की जवाबदेही तय कर दी गई है। मुझे विश्वास है कि देश भर से आये धावकों को किसी भी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होगी और वे यहां से अच्छी यादें लेकर अपने-अपने घरों को जाएंगे। उप-कुलाधिपति राजेश गुप्ता ने संस्कृति यूनिवर्सिटी के सभी प्राध्यापकों और कर्मचारियों को आदेश दिया कि यह बड़ा आयोजन है। यहां देशभर से महिला और पुरुष धावक प्रतियोगिता में शिरकत करने आ रहे हैं, लिहाजा धावकों को कोई असुविधा न हो इसका पूरी तरह से ध्यान रखा जाए। ओएसडी मीनाक्षी शर्मा ने बैठक में कहा यह संस्कृति यूनिवर्सिटी के लिए गर्व और गौरव की बात है। देश भर से आए धावक यहां से अच्छी स्मृतियां लेकर जाएं, संस्कृति यूनिवर्सिटी इसके लिए हरमुमकिन कोशिश कर रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »