कुंभ से पहले नालों का नदियों में गिरना बंद कराने की तैयारी

लखनऊ। प्रयागराज के संगम तट पर जनवरी से शुरू होने वाले कुंभ मेला से पहले नालों का गंदा पानी नदियों में गिरना बंद कराने की तैयारी है।
स्वच्छ भारत मिशन योजना में अमृत गंगा शहर में होने वाले कामों का ब्योरा अधिकारियों से मांगा गया है। केंद्रीय टीम सोमवार को इस योजना के प्रगति की समीक्षा करेगी।
केंद्र सरकार ने स्वच्छ भारत मिशन योजना में शहरों के साथ नदियों को भी साफ रखने के लिए काम शुरू कराया है। नदियों के किनारे बसे शहरों के लिए अमृत गंगा शहर योजना पर काम चल रहा है। इस योजना में नालों का गंदा पानी नदियों में गिरने से रोकने के लिए सालिड वेस्ट मैनेजमेंट के तहत सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) बनाने का काम कराया जा रहा है, जिससे नालों का गंदा पानी गिरने से रोका जाए।
केंद्रीय स्वच्छ भारत मिशन (शहरी) के संयुक्त सचिव वीके जिंदल सोमवार को अब तक हुए कामों की समीक्षा करेंगे। इस दौरान वह डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन, कूड़ा निस्तारण, नाला स्क्रीनिंग और एसटीपी के कामों की जानकारी लेंगे। इसमें नदियों के बसे शहरों के अधिकारियों से अब तक हुए कामों की पूरी रिपोर्ट मांगी गई है। खासकर लखनऊ, अलीगढ़, सहारनपुर, झांसी, गोरखपुर, मुरादाबाद, आगरा, वाराणसी, कानपुर, फिरोजाबाद, गाजियाबाद, मेरठ, बरेली, इलाहाबाद, मथुरा, शाहजहांपुर और अयोध्या नगर निगमों के नगर आयुक्तों के साथ 56 अधिशासी अधिकारियों से रिपोर्ट देने को कहा गया है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »