प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव ने AAP में वापसी संबंधी खबरों को किया खारिज

नई दिल्‍ली। प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव ने उन खबरों का खारिज कर दिया है, जिसमें कहा गया है कि आम आदमी पार्टी AAP और उनके बीच पार्टी में वापसी को लेकर बातचीत चल रही है. दोनों नेताओं ने कहा कि इस तरह की कोई भी संभावना नहीं है.
स्वराज इंडिया के संस्थापक प्रशांत भूषण ने एक मीडिया रपट को रिट्वीट किया, जिसमें आम आदमी पार्टी AAP नेता कुमार विश्वास के हवाले से यह बात कही गई थी. भूषण ने इसे ‘बेतुका’ करार दिया.
कुमार विश्वास ने रविवार को आप की कार्यपद्धति से नाखुशी जताते हुए कहा था कि पार्टी को मूल सिद्धांतों की तरफ लौटने की जरूरत है.
उन्होंने कहा कि पार्टी कार्यकर्ता उनके कई सहयोगियों के साथ बातचीत कर रहे हैं, जिन्होंने पार्टी छोड़ दी है और पार्टी द्वारा किए गए किसी भी गलत कार्य के लिए माफी मांगी है.
गौरतलब है कि प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव ने शीर्ष नेतृत्व से उभरे मतभेदों के बाद पार्टी छोड़ दी थी.
भूषण ने ट्वीट किया, “आप में वापसी को लेकर कोई बातचीत नहीं हुई है और इसकी कोई संभावना भी नहीं है. AAP ने भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन के सभी आदर्शो के साथ धोखा किया है.”
यादव ने ट्विटर के जरिए कहा कि एक दिन पहले जो विश्वास ने कहा उसे पढ़कर वह ‘हैरान’ हैं.
उन्होंने ट्वीट की एक श्रृंखला में कहा, “वास्तव में? इतना गोपनीय कि हम दोनों ने इसके बारे में कुछ सुना तक नहीं. मेरे ख्याल से ऐसा होने की कोई संभावना नहीं है.”
यादव और भूषण को मार्च 2015 में कथित रूप से पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण पार्टी से हटा दिया गया था. उन्होंने आप संयोजक अरविंद केजरीवाल की ‘कार्यप्रणाली की सुप्रीमो शैली’ कहकर संबोधित किया था और पार्टी में पारदर्शिता की कमी बताया था.
दोनों ने अक्टूबर 2016 में एक नई राजनीतिक पार्टी स्वराज इंडिया की स्थापना की.
-एजेंसी