प्रज्ञा ठाकुर ने Godse वाले बयान पर प्रदेश अध्यक्ष से माफ़ी मांगी

नई दिल्‍ली। प्रज्ञा ठाकुर ने नाथुराम गोडसे पर दिए बयान को लेकर प्रदेश अध्यक्ष से माफ़ी मांगी है, हालांकि इस बयान से भाजपा ने अपना पल्ला झाड़ लिया है। इससे पहले भाजपा प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा कि साध्वी प्रज्ञा केे बयान से भाजपा सहमत नहीं है और इसकी निंदा करती है। पार्टी उनसे इस मामले पर सफाई मांगेगी और उनसे सार्वजनिक तौर पर इसे लेकर माफी मांगने के लिए कहेगी।

गौरतलब है कि भाजपा ने पहले ही साध्वी प्रज्ञा को 19 तक मौन रहने को कहा था। इससे पहले भी वह कई विवादित बयान दे चुकी हैं। इसके बाद पार्टी ने उन्हें मीडिया से अनावश्यक बातचीत न करने और 19 मई के आखिरी चरण के मतदान तक किसी तरह के विवादास्पद बयानबाजी से बचने को कहा था।

कमल हासन पर पलटवार कर प्रज्ञा ने बयान दिया

प्रज्ञा ने कहा था कि फिल्म अभिनेता से नेता बने कमल हासन पर पलटवार करते हुए उन्होंने कहा कि नाथूराम Godse देशभक्त थे, देशभक्त हैं और देशभक्त रहेंगे। उन्हें आतंकवादी कहने वाले लोग अपने गिरेबान में झांकें।

Lok Sabha Election 2019 में नाथू राम Godse को लेकर बयानबाजी का दौर थम नहीं रहा है। गोडसे को लेकर मध्य प्रदेश के भोपाल सीट से भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने अब बयान दिया, उन्होंने गोडसे को देशभक्त बताया। साध्वी प्रज्ञा ने गोडसे पर बयान देते हुए कहा ‘ गोडसे देशभक्त थे, हैं और हमेशा देशभक्त रहेंगे। जो लोग उन्हें आतंकवादी कह रहे हैं वे पहले अपने अंदर झांक कर देख लें। इन लोगों को इस चुनाव में जवाब मिल जाएगा।

कांग्रेस का भाजपा पर हमला
कांग्रेस ने इसे लेकर भाजपा पर हमला बोला है। कांग्रेस के नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि भारत की आत्मा गोडसे के वंशजों से खतरे में है। भाजपा नेता भारत के राष्ट्रपिता के हत्यारे को सच्चा देशभक्त बता रहे हैं और देश के लिए जान देने वाले हेमंत करकरे को देशद्रोही बता रहे हैं।

मोदी और अमित शाह को माफी मांगनी चाहिए:  दिग्विजय 
इस बयान को लेकर भोपाल से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह ने भी भाजपा को घेरा है। उन्होंने कहा है कि मोदी जी, अमित शाह जी और राज्य भाजपा को इस लेकर अपने बयान देने चाहिए और देश से माफी मांगनी चाहिए। मैं इस कथन की निंदा करता हूं, नाथूराम गोडसे एक हत्यारा था, उसकी महिमामंडन करना देशभक्ति नहीं है, यह देशद्रोह है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »